कानपुर: सियालदह अजमेर एक्सप्रेस ट्रेन हादसे में दोषी पाए गए स्टेशन मास्टर समेत चार सस्पेंड

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर के रूरा रेलवे स्टेशन के पास 28 दिसंबर 2016 को हुये सियालदह अजमेर एक्सप्रेस 12987 ट्रेन हादसे में प्रारंभिक जांच में दोषी पाये गये स्टेशन मास्टर समेत चार अन्य को सस्पेंड कर कर दिया गया है।

चारों कर्मचारियों ने बरती थी लापरवाही

एनसीआर के सीपीआरओ विजय कुमार ने एक बयान जारी करते हुए बताया है कि विभागीय जांच में पहली नजर में लापरवाही बरतने वाले चार रेल कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इसमें रूरा स्टेशन के स्टेशन इंचार्ज आन डयूटी महेश कुमार वैश्य, ट्राफिक इंस्पेक्टर धर्म सिंह मीना, सीनियर सेक्शन इंजीनियर एस के वर्मा और आर पी सिंह शामिल है ।

प्रारंभिक जांच में पाये गये थे दोषी

उन्होंने यह भी बताया है कि मामले की प्रारंभिक जांच के बाद एनसीआर के डीआरएम संजय कुमार के आदेश के बाद इन रेलवे कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है । प्रारंभिक जांच में यह अधिकारी लापरवाही के दोषी पाये गये थे। उन्होंने बताया कि रूरा हादसे की जांच रेल संरक्षा आयुक्त उत्तर परिमंडल शैलेश कुमार पाठक कर रहे है और वह 30 और 31 दिसंबर को कानपुर और घटनास्थल आकर जांच तथा रेलवे कर्मचारियों के बयान लेकर जा चुके है ।

यह कार्रवाई उत्तर मध्य रेलवे के अधिकारियों द्वारा पहली नजर में लापरवाही के दोषी रेलवे कर्मचारियों के खिलाफ की गयी है । वैसे इस मामले की जांच रेल संरक्षा आयुक्त उत्तर परिमंडल शैलेश कुमार पाठक कर रहे है और वह अपनी रिपोर्ट एक महीने में मंत्रालय को सौपेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *