फोटो

गया ओटीए से भारतीय सेना को मिले149 आफिसर, देखें तस्वीरें…

गया-डोभी मुख्य सड़क मार्ग पर पहाड़पुर गांव के समीप स्थित आफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी में शनिवार को भव्य पासिंग आउट परेड का आयोजन किया गया। इस बार ओटीए की 10वी पासिंग आउट परेड में कुल 246 कैडेट्स पास आउट हुये।

parade1_2016_12_10_18378

 इंट्री कोर्स 18 बैच के 119 जेंटलमैन कैडेट एवं एससीओ 37 बैच के 30 कैडेट ने भारतीय सेना में कमीशन प्राप्त किया। इस तरह से 149 आफिसर भारतीय सेना में शामिल हुये। शेष 97 जेंटलमैन कैडेट्स टीईएस 34 बैच के तीन वर्ष के लिए देश के विभिन्न सैन्य तकनीकी संस्थानों में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए रवाना हुये।

 पासिंग आउट परेड की शुरूआत अल सुबह सेना के बैंड की धुन के साथ हुई। कदम से कदम मिलाते हुये जवानों ने पासिंग आउट में आकर्षक परेड किया।
parade10_2016_12_10_19228
 पासिंग आउट परेड में निरीक्षण अधिकारी के रूप में सेना मेडल, विशिष्ट सेवा मेडल, चीफ आफ इंटीग्रेटेड डिफेन्स स्टाफ व चेयरमैन लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ शामिल हुये। श्री दुआ की आगवानी ओटीए के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल विनोद वशिष्ट ने किया।

 कैडेट्स ने मार्च पास्ट करते हुये निरीक्षण अधिकारी को सैल्यूट दिया। श्री दुआ ने परेड की सलामी ली। साथ ही प्रशिक्षण के दौरान बेहतर प्रदर्शन करने वाले कैडेट्स को पुरस्कृत किया। इस मौके पर पासिंग आउट परेड में शामिल कैडेट्स को संबोधित करते हुये लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने कहा कि आपका भविष्य नि:स्वार्थ और गौरवमयी सेवा से भरा हो।

 गया ओटीए में गोल्ड पदक विजेता तामिलनाडु के बी परभूदेवन के माता-पिता भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

 रजत पदक विजेता हरियाणा का पुषपेनदरू चौधरी के परिजन भी आयोजन में आए थे और अपने पुत्र को मेडल लेता देख गौरवावन्वित महसूस कर रहे थे।

 कर्नाटक के गिरीश ए मसती ने कांस्य पदक जीता, उनके भी माता-पिता इस अवसर पर उपस्थित थे।

 सिवान जिले के शिवपुर शेखरा के संतोष गुप्ता जो अभी जमशेदपुर में रहते हैं औऱ जिनके पिता सब्जी विक्रेता हैं उन्होंने भी सफलता पाई है।

 भूटान के रहने वाले चार कैडेट भी गया ओटीए से आफिसर बने हैं। इन सबके परिजन भी समारोह में मौजूद थे।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular News

To Top