घाटी में कांग्रेस ने निकाली जन आक्रोश रैली, पुलिस ने लिया हिरासत में!

नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष ने सोमवार (28 नवंबर) को भारत बंद या फिर जन आक्रोश दिवस का ऐलान किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कालेधन पर लगाम लगाने के लिए 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर दिए थे. ऐसे में पूरे भारतवर्ष में आंशिक विरोध प्रदर्शन जन आक्रोश रैली के रूप में हुआ. जन आक्रोश रैली का एक नमूना भारत की कश्मीर घाटी में भी देखा गया.

घाटी में कांग्रेस ने नोटबंदी के विरोध में जन आक्रोश रैली निकाली. बुरहन वानी की मृत्यु के बाद से घाटी में हालात नाज़ुक थे. पिछले हफ्ते ही घाटी में जन जीवन वापस पटरी पर आता देखा गया. ऐसे में कांग्रेस की जन आक्रोश रैली कितनी उचित होती?

जम्मू में पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रैली से निकाल कर हिरासत में ले लिया है.

महबूबा मुफ़्ती पीएम के समर्थन में!

घाटी के नाज़ुक हालातों और जम्मू में कांग्रेस की जन आक्रोश रैली के बीच राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंची.

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने घाटी के हालातों को अच्छा बताया और कहा की घाटी के हालात लगातार सुधर रहे हैं. नोटबंदी के बारे में पूछे जाने पर महबूबा ने कहा,

ये मामूली फैसला नहीं है. कुछ दिन दिक्कत होगी लोगों को लेकिन ये मुल्क के लिए एतिहासिक साबित होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *