दिल्ली प्रदूषण पर प्रेस कांफ्रेंस: जानें दिल्ली सरकार का पूरा प्लान!

दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक पैमाने पर बढ़ गया है. धुंध और स्मॉग ने दृष्टि भी कमज़ोर कर दी है. कल दिल्ली सरकार ने केंद्र से मदद मांगी थी. आज दिल्ली प्रदूषण के स्तर को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने एक आपातकालीन बैठक बुलाई. बैठक 12:30 बजे उनके निवास पर थी.

बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने एक प्रेस कांफ्रेंस बुलाई जिसमे उन्होंने दिल्ली सरकार के प्रदूषण से निपटने की दिल्ली सरकार की योजना के बारे में बताया.

‘दिल्ली प्रदूषण के लिए आपातकालीन उपायों की जरुरत’

अरविन्द केजरीवाल ने माना की दिल्ली में प्रदूषण बहुत ज्यादा हो गया है. इसके चलते हमें मिलकर कुछ आपातकालीन उपाए करने की जरुरत है.

दिल्ली में जो पिछले 10 दिन में प्रदूषण बाधा है, वो आस पास के स्टेट्स में जो क्रॉप बर्निंग है वो उसका बड़ा कारण है,

साथ आने की बात कही,

राजनीती छोड़ के, फिंगर पोइंटिंग छोड़ के, सबको मिलके इसके समाधान ढूढने पड़ेंगे और करने पड़ेंगे.

दिल्ली प्रदूषण के मद्देनज़र, आपातकालीन उपाए, अगले कुछ दिन के लिए…

  • अगले 5 दिनों के लिए हर तरह का बनाने और तोड़ने का काम (कंस्ट्रक्शन-डेमोलिशन) बंद किया जा रहा है.
  • दिल्ली में सड़कों पर कल से पानी का छिडकाव बड़े स्तर पर होगा.
  • दिल्ली में डीजी सेट्स (डीजल जनरेटर) को 10 दिनों के लिए बंद किया जा रहा है. इनमे जरुरी डीजी सेट्स, अस्पतालों और मोबाइल टावर्स में लगे, इससे बाहर होंगे.
  • गैर क़ानूनी घर और ज़मीन डीजी सेट्स का इस्तमाल करते हैं या बिजली की चोरी करते हैं. ऐसे में सबको बिजली के कनेक्शन दिए जायेंगे. बिजली के कनेक्शन देने से मकान का निर्माण क़ानूनी दायरे में नहीं आएगा.
  • बदरपुर प्लांट अगले 10 दिन के लिए बंद किया जायेगा. इससे फ्लाई ऐश का फैलाव बंद होगा.
  • दिल्ली में 10 तारीख से पीडब्लूडी की 100 फीट या उस से बड़ी हर सड़क पर हफ्ते में एक बार वैक्यूम क्लीनिंग की जाएगी.
  • एप्प के माध्यम से पत्तियों के जलने पर पर्यावरण विभाग काबू पाने की कोशिश करेगा. जो अफसर ज़िम्मेदार होगा उसके इलाके में पत्तियां जलने पर दण्ड उसके वेतन से काटा जायेगा. ये एप्प कल लांच होगा.
  • लैंडफिल साइट्स की आग तुरंत बुझाई जाएगी.
  • 3 दिन के लिए दिल्ली के सारे स्कूल बंद रहेंगे.
  • स्वास्थ विभाग एडवाइजरी (सलाह) जारी करेगा.

इसके अलावा भी…

  • दिल्ली की जनता से निवेदन की जितना हो सके घर पर बैठ कर काम करें.
  • ऑड इवन की तैय्यारी भी चल रही है.
  • केंद्र सरकार से साझा बातचीत के बाद ‘अर्तिफ़िशिअल रेन’ पर भी विचार किया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *