नवजोत सिंह सिद्धू की मुश्किलें बढीं, हाईकोर्ट में केस चलेगा

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को साल 2009 के लोकसभा चुनाव के एक मामले में पूर्व बीजेपी नेता नवजोत सिंह सिद्धू की मुश्किलें बढा र्दी। इस मामले में सिद्धू के खिलाफ पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में केस चलेगा। यह मामला नियमों के मुताबिक 25 लाख रूपए से ज्यादा खर्च करने का है और इसी मामले में अब केस चलेगा।

इसके अलावा पंसद के अफसर को रिटनिंग बनाने के आरोप में भी केस चलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को नवजोत सिंह सिद्धू की याचिका पर ही अपना फैसला सुनाया है। सिद्धू ने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के 2010 के फैसले को चुनौती दी थी। दरअसल 13 मई 2009 को सिद्धू ने अमृतसर लोकसभा से चुनाव लडा था और 16 मई को रिजल्ट में उन्होंने कांग्रेस के ओमप्रकाश सोनी को हरा दिया था।

सोनी ने 29 जून 2009 को हाईकोर्ट में सिद्धू के खिलाफ नियमों के खिलाफ 25 लाख रूपये से ज्यादा के चुनाव खर्च का आरोप लगाते हुए चुनाव याचिका दायर की जो हाईकोर्ट ने 6 दिसंबर 2010 को सुनवाई के लिए मंजूर कर ली थी। याचिका में दोबारा चुनाव कराने की मांग की गई थी। सोनी ने याचिका में ये भी आरोप लगाया कि सिद्धू ने चुनाव के लिए अपनी पसंद के अफसर को ट्रांसफर भी कराया हालांकि हाईकोर्ट ने सोनी को कुछ आधार हटाने के लिए भी कहा था।

सोनी ने 29 जून 2009 को हाईकोर्ट में सिद्धू के खिलाफ नियमों के खिलाफ 25 लाख रूपये से ज्यादा के चुनाव खर्च का आरोप लगाते हुए चुनाव याचिका दायर की जो हाईकोर्ट ने 6 दिसंबर 2010 को सुनवाई के लिए मंजूर कर ली थी। याचिका में दोबारा चुनाव कराने की मांग की गई थी। सोनी ने याचिका में ये भी आरोप लगाया कि सिद्धू ने चुनाव के लिए अपनी पसंद के अफसर को ट्रांसफर भी कराया हालांकि हाईकोर्ट ने सोनी को कुछ आधार हटाने के लिए भी कहा था।