नाभा जेल में 10 हथियार बंद लोगों ने गोलीबारी कर खालिस्तानी चीफ को छुड़ाया!

चंडीगढ़: पंजाब में करीब 10 बंदूकधारियों ने आज सुबह नाभा जेल पर हमला कर आतंकी संगठन खालिस्तान लिब्ररेशन फोर्स (केएलएफ) के सरगना हरमिंदर सिंह मिंटू सहित चार अन्य अपराधियों को भगा ले गए. इस घटना के बाद इलाके में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.

बंदूकधारी लोगों ने पुलिस की वर्दी में 100 से ज्यादा राउंड गोली चलायी और हरमिंदर सिंह सहित 4 लोगों को छुड़ा कर ले गए. नाभा जेल से छूटे 4 और लोगों के नाम गुरप्रीत सिंह, विक्की गोंदरा, नितिन डियोल और विक्रमजीत सिंह विक्की हैं.

इस घटना के बाद पंजाब में पुलिस ने हाई अलर्ट घोषित कर दिया है. कई आतंकी वारदातों में शामिल होने के आरोपी 47 वर्षीय मिंटू को नवंबर 2014 में दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था.

घटना के बाद, अमृतसर में पंजाब के डीजीपी और डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बदल के बीच बैठक चल रही है. चश्मदीदों के मुताबिक लगभग 20 लोग थे जिनमें एक एएसआई की वर्दी में और बाकि पुलिस की खाकी में थे. इन लोगों ने अंधी फायरिंग करी थी.

राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा है की सुरक्षा एजेंसियां इसका संज्ञान लेंगी और जो भी जरुरी कदम होंगे उठाये जायेंगे.

नाभा जेल से भागे क्रिमिनलों की तलाश में सीमाओं पर पुलिस ने कड़ी बैरीकैडिंग कर रखी है. ऐसे में एक महिला ने बैरीकैडिंग पर गाडी नहीं रोकी जिसकी वजह से पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी और उस महिला की फायरिंग में मौत हो गयी!

पंजाब पुलिस ने इन भागे हुए कैदियों के बारे में सुराग देने वाले को 25 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा करी है. पंजाब के डीजीपी वारदात की जगह का मुआयना करेंगे.

वहीँ दूसरी ओर पंजाब पुलिस ने फूर्ती दिखाते हुए इस वारदात की छानबीन के लिए एसआईटी टीम गठित कर दी है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी सहायता का आश्वासन दिया है.

पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल नाभा जेल घटना का मुआयना करने पहुंचे.