पंजाब यूनिवर्सिटी से जुड़ेंगे मनमोहन सिंह!

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पंजाब यूनिवर्सिटी में एक प्रतिष्ठित पद संभाल सकते हैं जहां से उन्होंने अर्थशास्त्र में पीजी की पढ़ाई पूरी की थी। यूनिवर्सिटी ने उन्हें यह पद संभालने की पेशकश की थी और इस बारे में लाभ के पद संबंधी संयुक्त समिति की ओर से लोकसभा अध्यक्ष को सौंपी रिपोर्ट में कहा गया है कि संसद सदस्य रहते यह पद लाभ के पद के दायरे में नहीं आता।

यूनिवर्सिटी की ओर से जवाहर लाल नेहरू चेयर प्रोफेसरशिप की पेशकश मिलने के बाद मनमोहन सिंह ने जुलाई में राज्यसभा के सभापति से संपर्क किया था और उनसे यह राय मांगी थी कि इस पेशकश को मंजूर करने से क्या लाभ के पद संबंधी संविधान के अनुच्छेद 102 (ए) के प्रावधानों के तहत आयोग्य तो घोषित नहीं किए जाएंगे? सिंह असम से राज्यसभा सदस्य हैं।

लाभ के पद संबंधी संयुक्त समिति की ओर से लोकसभा अध्यक्ष को सौंपी रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर पूर्व प्रधानमंत्री इस पेशकश को मान लेते हैं तो यह किसी तरह से भी लाभ के पद के दायरे मंै नहीं आएगा और संसद सदस्य के रूप में आयोग्यता नहीं होगी। मनमोहन सिंह ने पंजाब यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में पीजी की पढ़ाई की थी और 1963 से 1965 के बीच वहां अर्थशास्त्र पढ़ाया भी था।

चंडीगढ़ स्थित पंजाब यूनिवर्सिटी के कुलपति ने सिंह को सूचित किया है कि यूनिवर्सिटी के सिंडिकेट और सेनेट ने जवाहरलाल नेहरू चेयर प्रोफेसरशिप के लिए सिंह के नाम को मंजूरी प्रदान कर दी है। यूनिवर्सिटी ने उनकी यात्रा के दौरान मानदेय और अन्य सुविधाओं की पेशकश की है। वह छात्रों और शिक्षकों के वास्ते अपने लेक्चर के संबंध में अपनी यात्रा के लिए उपयुक्त समय और अवधि और संवाद का माध्यम चुन सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *