बराक ओबामा ने दी फेयरवेल स्पीच, लोगों ने लगाए ‘चार साल और’ के नारे

शिकागो। अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर बराक ओबामा ने शिकागो में अपना आखिरी भाषण दिया। अपनी फेयरवेल स्पीच में ओबामा ने कहा कि मिशेल और मुझे पिछले कुछ हफ्तों से शुभकामनाएं मिल रही हैं। आज मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। बराक ओबामा का कार्यकाल 20 जनवरी को खत्म हो रहा है। ओबामा ने बिना नाम लिए अमेरिका के अगले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीतियों पर भी निशाना साधा और लोगों से सहिष्णु बनने के साथ ही नस्लवाद को बढ़ावा न देने की अपील की।

मिशेल ओबामा और अपनी बेटियों का शुक्रिया अदा करते वक्त ओबामा की आंखों से आंसू छलक पड़े। अपने आखिरी भाषण में ओबामा ने पत्नी मिशेल और बेटियों का जिक्र किया तो वह रो पड़े। ओबामा ने कहा, ‘बीते 25 सालों से तुम सिर्फ मेरी बीवी और मेरे बच्चों की मां नहीं बल्कि मेरी बेस्ट फ्रेंड बनी। तुमने मुझे गर्व महसूस कराया तुमने देश को गर्व महसूस कराया।’ मालिया और साशा का जिक्र करते हुए ओबामा ने कहा, ‘ मैंने जिंदगी में जो भी किया लेकिन सबसे ज्यादा गर्व तुम दोनों के पिता होने का है।’

लोकतंत्र में एकजुटता की जरूरत

ओबामा ने कहा कि मैंने सीखा है कि परिवर्तन तभी होता है जब आम आदमी की भागीदारी हो और मांग के लिए सभी एक साथ आते हों। लोकतंत्र के लिए एकजुटता की एक बुनियादी भावना की आवश्यकता होती है। हम गिरें या उठें हमें साथ होना चाहिए। आने वाले 10 दिन में देश एक बार फिर हमारे लोकतंत्र की ताकत देखेगा कि कैसे एक चुना हुआ राष्ट्रपति सत्ता संभालता है। लोकतंत्र के लिए काम करना हमेशा से मुश्किल रहा है।