लापरवाही में गई बुजुर्ग की आंख की रोशनी, 5 महीने दौड़ाने के बाद डॉक्टर बोले दिल्ली जाओ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित मेडिकल कॉलेज में डाक्टरों की लापरवाही से एक बुजुर्ग की आखों की रोशनी चली गई। राकेश मेहरोत्रा ने मेडिकल कॉलेज केजीएमयू के नेत्र विभाग में अपने आखों का ऑपरेशन कराया था। ऑपरेशन होने के बाद नेत्र विभाग के डाक्टरों ने राकेश से कहा कि कुछ दिनों और इलाज चलेगा, जिसके बाद आपके आँखों की रोशनी आ जाएगी।

मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की लापरवाही

ऑपरेशन के बाद अब पांच महीने बीत चुके हैं लेकिन राकेश की आँखों से अभी भी कुछ नहीं दिखता है। पीड़ित का आरोप है कि डॉक्टर ने आँखों के ऑपरेशन के दौरान लापरवाही बरती है। जिससे उनके आँखों की रोशनी चली गई और अब डॉक्टर उन्हें एम्स दिल्ली जाने की सलाह दे रहे हैं।

फैजाबाद रोड स्थित इस्माइल गंज निवासी राकेश मेहरोत्रा की बाई आँख में मोतियाबिंद था। जिसका इलाज उन्होंने पिछले साल 2 अगस्त को केजीएमयू में कराया था। नेत्र विभाग के डॉ संजीव गुप्ता ने उनका ऑपरेशन किया था। डॉ संजीव ने कहा कुछ दिनों में जख्म भर जाने के बाद रोशनी आ जाएगी। लेकिन 5 महीने से भी ज्यादा हो चुके लेकिन अभी भी कुछ नहीं दिखा दे रहा है।

रिश्तेदारों से कर्ज लेकर करवाया था ऑपरेशन

पीड़ित के मुताबिक, डॉक्टर उनसे बेरुखी से पेश आते हैं और आँखों के बारे में पूछने पर गंभीर रोग बताकर उन्हें दिल्ली जाने की सलाह दे रहे हैं। राकेश बताते हैं कि डॉक्टर ने कुल 40,000 हजार रुपये का खर्च बताया था, जिसमें 30,000 रुपये उन्होंने रिश्तेदारों से कर्ज लेकर ऑपरेशन कराया था। और अब वो कर्ज की रकम भी नहीं दे पा रहे हैं। पीड़ित बुजुर्ग राकेश ने कहा, कि उनके परिवार का खर्च रंगाई पुताई करके चलता था, मोतियाबिंद होंने के बाद पूरी तरह दिखना बंद हो गया, उनकी माली हालत बहुत ख़राब है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *