सपा संग्राम जारी, अखिलेश यादव के रथ में कहीं नहीं दिख रहे शिवपाल यादव!

समाजवादी पार्टी के अंदर इन दिनों शक्ति प्रदर्शन का दौर जारी है। स्पेशल वाहन के जरिए अपने विकास कार्यों को जनता तक पहुंचाकर खुद को सबसे लोकप्रिय नेता साबित करने के लिए यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने तैयारियां शुरू कर दी है। इसके लिए उन्होंने हाईटेक रथ भी तैयार करवाया है। समाजवादी विकास रथ मंगलवार को 5 कालिदास मार्ग पर देखा गया। इसके जरिए अखिलेश 3 नवंबर से जनता के बीच जाएंगे और अपनी सरकार के विकास कार्यों को बताएंगे। अखिलेश यादव के इस हाईटेक रथ में भी परिवार के बीच जारी खींचतान की झलक नजर आ रही है। हाइटेक प्रचार वाहन से सपा के प्रदेश अध्यक्ष और चाचा शिवपाल यादव की फोटो गायब है। बता दें कि पिछले कुछ समय से अखिलेश और शिवपाल के बीच जंग जारी है।

रथ

रथ

रथ

रथ

समाजवादी सरकार के इस विकास रथ पर सीएम अखिलेश यादव का साइकिल चलाते हुए एक बड़ा फोटोग्राफ लगा हुआ है। बस के सामने की ओर साइकिल का फोटो है, जो कि समाजवादी पार्टी का चुनाव चिन्ह है। समाजवादी रथ के पीछे पार्टी सुप्रीमो और पिता मुलायम सिंह यादव की दो फोटो लगी हुई है। लेकिन इस पूरे रथ से चाचा शिवपाल सिंह की फोटो गायब है। जिन तीन और लोगों की ब्लैक एंड वाइट तस्वीर रथ पर दिखाई देती है वह हैं राम मनोहर लोहिया जनेश्वर मिश्र और जयप्रकाश नारायण।

गौरतलब है कि सपा में मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल के विलय से अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल सिंह यादव के बीच रिश्तों में तल्खी बढ़ी थी। अखिलेश यादव इस विलय के खिलाफ थे जबकि शिवपाल सिंह यादव ने इस विलय को कराया था। जिससे नाराज अखिलेश ने शिवपाल सिंह के मंत्रालय छिन लिए थे। जवाब में मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाकर उनकी जगह शिवपाल को यूपी ईकाई का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। तब से लेकर अब तक चाचा-भतीजे के बीच जंग जारी है। मामले ने उस समय और गंभीर मोड़ ले लिया जब अखिलेश ने शिवपाल समेत कई मंत्रियों को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया था।

 

-सौजन्य से जनसत्ता!