अलेप्पो शहर पर सीरियाई सेना का कब्जा, 4 साल से चल रही थी जंग

अम्‍मान। सीरियाई सेना ने अलेप्पो पर 4 साल बाद कब्जा कर लिया है। इसके साथ ही पिछले एक महीने से पूर्वी अलेप्पो में चल रहे खूनी संघर्ष का अंत हो गया है। 2011 में गृह युद्ध भड़कने के बाद यहां की सेना की विपक्षी बलों पर यह सबसे बड़ी जीत है। यह एेलान एेतिहासिक निकासी समझौते के बाद आया है, जिसने महीनों से चले आ रहे सरकार और मिलिशिया के बीच संघर्ष को खत्म कर दिया। सेना ने एक बयान में कहा कि उसने अलेप्पो में सुरक्षा बहाल कर दी है जिसकी पुष्टि इंटरनेशनल रेडक्रास समिति (ICRC) ने भी की है।

सीरियाई सेना

सीरियाई सेना का कब्जा सीरिया के आंदोलन के लिए बड़ा झटका

इससे पहले रेड क्रॉस ने कहा था कि निकासी चरणों के तहत 4000 हजार लड़ाकों ने विद्रोहियों के इलाकों को छोड़ दिया। अलेप्पो पर सेना का कब्जा पिछले 6 वर्षों के दौरान सीरिया के विद्रोही आंदोलन के लिए बड़ा झटका है। इस आंदोलन में अब तक 3 लाख 10 हजार लोग मारे जा चुके हैं। इसके साथ ही सरकार का देश के 5 बड़े शहरों पर भी कब्जा हो गया है। ये शहर हैं-अलेप्पो, होम्स, हामा, दमास्कस और लताकिया। राष्ट्रपति बशर-अल-असद की अलेप्पो पर यह जीत मॉस्को और तेहरान के उनके सहयोगियों के लिए बड़ी राहत है।

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र के एक अधिकारी ने कहा था कि एलेप्पो से बीते हफ्ते के दौरान कम से कम 34,000 नागरिकों और विद्रोहियों को निकाला गया है। एलेप्पो सीरिया का सबसे बड़ा शहर है जिसकी आबादी लगभग 23 लाख है। ये शहर सीरिया का औद्योगिक और वित्तीय केंद्र भी रहा है।