स्‍मॉग के चलते अब एनजीटी ने भी निर्माण कार्यों पर लगाई 7 दिनों की रोक

नई दिल्ली। देश की राजधानी लगातार आठ दिनों से स्मॉग के आगोश में है। प्रदूषण पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल, एनजीटी ने सोमवार को केंद्र, दिल्ली सरकार व सिविक एजेंसियों को एक बार फिर आड़े हाथ लिया।

एनजीटी के चेयरमैन स्वतंत्र कुमार की पीठ ने प्रदूषण से बचाव के लिए समय से उपाय न करने पर दिल्ली सरकार को जमकर फटकार लगाई।

इसी के साथ एनजीटी ने दिल्‍ली में सभी प्रकार के निर्माण कार्यों पर सात दिनों की रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट ने भी दिल्‍ली सरकार को आड़े हाथ लेते हुए प्रदूषण का हल निकालने के लिए 24 घंटे का वक़्त दिया है.

दिल्ली सरकार ने बताया कि उसने स्कूल बंद करा दिए हैं। सड़कों पर पानी का छिड़काव किया जा रहा है। इस पर एनजीटी ने कहा कि सड़कों पर पहले ही पानी का छिड़काव क्यों नहीं किया।

कड़ा रुख अपनाते हुए उन्होंने आगे कहा की अगर आपने प्रदूषण को लेकर इमरजेंसी घोषित की है तो बताएं कि 6 नवंबर को कितने बिल्डर्स व कूड़ा जलाने वालों के चालान किए गए।

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने कहा कि सरकार एक्शन ले कागजी कार्रवाई से कुछ नहीं होगा। मामले की सुनवाई मंगलवार को भी होगी।