बूंदी में ट्रैक्टर ट्रॉली में हुई भयानक भिडंत, कई मजदूर हुए घायल


जयपुर: राजस्थान के बूंदी शहर रेलवे पुलिया के पास शनिवार शाम अनाज की बोरियों से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली को हाइवा ने तेज गति से टक्कर मार दी है। दुर्घटना में ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार मजदूरों में से नौ मजदूर जख्मी हो चुके है। दुर्घटना के उपरांत ट्रॉली में भरी अनाज की बोरियां सड़क पर गिर चुकी है, जिससे अनाज सड़क पर फ़ैल गया है। घटना की जानकारी मिलने पर सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और जख्मी को इलाज के लिए हॉस्पिटल पहुंचाया गया। 

सदर थाना के उप निरीक्षक धर्माराम ने कहा कि घटना में ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार 11 मजदूरों में से 9 को चोटें आ चुकी है। घटना में मुरारी, सुरेश, भंवरलाल, राजू, जगदीश, पूरणमल, शंकर, परशुराम एव कजोड़ को चोटें आईं कुछ को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेजा जा चुका है. ट्रैक्टर ट्रोली किसी राइस मिल की बताई कही जा रही है। इसके पहले खबर सामने आई थी यमुना प्राधिकरण ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की रफ्तार घटाने का निर्णय किया है. दरअसल, सर्दी आते ही सुबह और शाम को घना कोहरा छाने लगता है. कोहरे के बीच वाहनों की रफ़्तार कई बार हादसों का सबब बन जाती है. इन हादसों को रोकने के लिए यमुना प्राधिकरण ने वाहनों की रफ्तार कम करने का निर्णय लिया है.

इस फैसले के अनुसार 15 दिसंबर से यमुना एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की अधिकतम गति सीमा 100 से घटकर 80 किलोमीटर प्रति घंटा कर दी जाएगी. यमुना एक्सप्रेस वे के ऑपरेशंस हेड संतोष पंवर ने जानकरी दी है कि अब हल्के वाहन 80 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से चल सकेंगे. वहीं भारी वाहन 80 से घटकर 60 किमी प्रति घंटा की स्पीड से चल सकेंगे, फिलहाल, ये स्पीड लिमिट 15 दिसंबर से 15 फरवरी तक के लिए लागू रहेगी, इसके बाद इसकी पुनःसमीक्षा होगी.