उत्तराखंड में ओमिक्रोन की दस्तक से सरकार की बढ़ी चिंता, कोविड प्रतिबंध कर सकती है लागू


देहरादून, कोरोना संक्रमण के मामलों में आई तेजी और कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की उत्तराखंड में दस्तक ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। इसे देखते हुए सरकार अब राज्य में कोविड प्रतिबंध लागू कर सकती है। इसके लिए अन्य राज्यों की भांति यहां भी नाइट कर्फ्यू में सख्ती, भीड़ नियंत्रण जैसे विषयों को लेकर सोमवार को उच्च स्तर पर मंथन के बाद कोई निर्णय लिया जा सकता है।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पिछले कुछ दिनों से तेजी से बढ़ी है। सोमवार को प्रदेशभर में कोरोना के 259 मामले सामने आए। इसके साथ ही एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 506 हो गई है। देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, ऊधमसिंहनगर व पौड़ी जिलों में कोरोना के मामले अधिक पाए गए हैं। यही नहीं, कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के आठ मामले भी अब तक राज्य में रिपोर्ट हुए, जिनमें से चार ठीक हो चुके हैं।

इस परिदृश्य को देखते हुए सरकार अब अन्य राज्यों की भांति यहां भी कोविड प्रतिबंध लागू करने पर विचार कर रही है। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार सोमवार को स्वास्थ्य, शिक्षा समेत अन्य विभागों के साथ कोविड की समीक्षा होगी, जिसमें कोविड प्रतिबंध के सिलसिले में कोई निर्णय लिया जा सकता है। सूत्रों ने बताया कि सरकार पहले ही राज्य में नाइट कर्फ्यू लागू कर चुकी है। इसकी अवधि अभी रात्रि 11 से सुबह पांच बजे तक है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए इसका समय बढ़ाया जा सकता है।

सूत्रों ने बताया कि बाजार के साथ ही विभिन्न आयोजनों में भीड़ नियंत्रण के संबंध में कुछ प्रतिबंध लगाने पर निर्णय लिया जा सकता है। इसके अलावा स्कूल-कालेजों में 15 से 18 वर्ष की आयु के सभी बच्चों का निश्चित समयावधि के भीतर टीकाकरण करने के बाद स्कूल-कालेज बंद करने का भी फैसला लिया जा सकता है। सूत्रों ने बताया कि कोविड प्रतिबंध के लिए अन्य राज्यों द्वारा उठाए गए कदमों का अध्ययन शुरू कर दिया गया है।