कांग्रेस के मैराथन में जीतने वाली लड़की ने ये आरोप लगते हुए वीडियो किया शेयर, शिकायत दर्ज


लखनऊ: उत्तर प्रदेश में महिलाओं के बल पर चुनावी दंगल में उतरी कांग्रेस पार्टी अभी से उनसे धोखा करने लगी हैं। दरअसल, कल (जनवरी 4, 2022) बरेली में कांग्रेस ने लड़कियों की एक मैराथन का आयोजन करवाया था और जीतने वाली लड़की को एक स्कूटी इनाम में दी थी। अब उसी लड़की ने उस स्कूटी का एक वीडियो शेयर किया है। वीडियो में आप देख सकते हैं कि स्कूटी के क्या हाल हैं। कहीं पर वेल्डिंग करके उन्हें जोड़ा गया है और कहीं से तो नट-बोल्ट ही नदारद है। यहाँ तक स्कूटी में सीट लॉकर भी नहीं है।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने इसका वीडियो सोशल मीडिया पर साझा करते हुए लिखा है कि, ‘कांग्रेस ने लड़कियों के लिए मैराथन का आयोजन किया। जीतने वाली लड़की को स्कूटी दी जो टूटी हुई थी और जिसका लॉक भी नहीं लगता था। भ्रष्टाचार और कांग्रेस… सत्ता के साथ भी और बाद भी।’ बता दें कि बरेली में ‘लड़की हूँ लड़ सकती हूँ’ के बैनर तले कांग्रेस ने मैराथन का आयोजन किया था, इस दौरान कई छात्राएँ जख्मी हो गई थीं। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमे देखा जा सकता है कि भगदड़ मचते ही लड़कियाँ एक के ऊपर एक गिरना शुरू हुईं, जिसके बाद उनमें से कई को चोट लग गई। इस घटना पर पूर्व मेयर सुप्रिया एरेन ने बेतुका बयान जारी किया था। उन्होंने इस भगदड़ को माता वैष्णो देवी मंदिर में हुए हादसे से जोड़कर जस्टिफाई करने का प्रयास किया था।

हालाँकि बाल आयोग ने भी इस मामले में संज्ञान लेकर जिलाधिकारी से कार्रवाई करने के लिए कहा था। आयोग ने 24 घंटे में एक्शन रिपोर्ट की माँग करते हुए 7 दिन के भीतर पूरे मामले की रिपोर्ट तलब करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने इस प्रकार आयोजित की गई मैराथन पर जिलाधिकारी को पत्र लिखते हुए कहा कि राजनीतिक कार्यक्रमों में बच्चों का इस्तेमाल करना निषेध है, यह बाल संरक्षण नियमों के उल्लंघन में आता है। दूसरा ये कोविड प्रोटोकॉल का भी उल्लंघन है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिला कलेक्टर ने इस मामले पर संज्ञान लेने के साथ ही कांग्रेस नेताओं पर प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।