मुंबई के जेजे हॉस्पिटल में 61 रेजिडेंट डाक्‍टर कोरोना संक्रमित


मुंबई, महाराष्ट्र में कोरोना महामारी ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। महाराष्ट्र एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डाक्‍टर्स के अनुसार बुधवार को जेजे अस्पताल में 61 रेजिडेंट डाक्‍टर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इन सभी डाक्‍टरों का कोरोना टेस्‍ट करवाया गया था। मिली जानकारी के अनुसार राज्‍य के अब तक 180 डाक्‍टर कोरोना संक्रमण का शिकार हो चुके हैं। इनमें जेजे अस्पताल में 61, तिलक अस्पताल में 35, केईएम अस्पताल में 40 और नायर में 35 रेजिडेंट डाक्टर कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं।

गौरतलब है कि रेजिडेंट डाक्‍टर्स ने कुछ दिन पहले पीजी प्रवेश प्रक्रिया में हो रही देरी का भी विरोध किया था। उनका कहना है कि डाक्‍टर्स आपातकालीन समय में भी कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे हैं। इससे पहले कोरोना संक्रमण की पहली और दूसरी लहर के समय अनुबंध किया था। तीसरी लहर की शुरुआत हो चुकी है और इसका वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है। डाक्‍टर काफी संख्‍या में संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे समय में मैन पावर बढ़ाने के लिए रेजिडेंट डाक्‍टर्स की मांगों पर विचार करने के लिए कहा है।

जल्‍द जारी हो सकती है नई गाइडलाइन

मुंबई में कोरोना संक्रमण के 10,860 मरीज मिलने के बाद उम्‍मीद है कि नई गाइडलाइन जारी की जा सकती है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उप मुख्यमंत्री अजित पवार (Ajit Pawar) की उपस्थिति में मुंबई में कोरोना टास्क फोर्स और स्वास्थ्य मंत्री, मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग से जुड़े विशेषज्ञों और प्रशासनिक अधिकारियों के बीच एक अहम बैठक हुई। इसमें उपाय और प्रतिबंध को लेकर जो सुझाव आये उन्‍हें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पास विचार के लिए भेजा गया है। सुझावों के आधार पर शाम तक फैसला ले नई गाइडलाइन लागू किए जाने की उम्‍मीद है।