कोरोना के बढ़ते केसों के बीच UK सरकार सख्त, थूकने और कचरा फेंकने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई


उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते केसों के बीच उत्तराखंड सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है। थूकने और कूड़ा इधर-उधर फेंकने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। घर से बिना मास्क घूमने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए गए हैं। मुख्य सचिव डॉ.एसएस संधु ने कोविड को लेकर नोडल अधिकारियों के साथ बैठक में सभी नोडल अफसरों को एक्टिव रहने के निर्देश दिए।

उन्होंने होम आइसोलेशन व उससे संबंधित सभी जरूरी तैयारियों को एक्टिव मोड में रखे जाने के निर्देश दिए हैं। कहा कि दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत घर, स्कूल आदि के साथ ही उसमें दी जाने वाली सुविधाओं की समय रहते सुनिश्चित कर लिया जाए। मुख्य सचिव ने अफसरों को प्रदेश भर में सफाई एवं सेनेटाइजर छिड़काव के लिए अभियान चलाए जाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा, आमजन को सजग करने हेतु लगातार अनाउसमेंट किया जाए। उन्होंने सार्वजनिक स्थलों में मास्क न पहनने वालों के साथ ही थूकने और इधर-उधर कचरा फेंकने वालों पर नियमानुसार कार्रवाई और चालान अभियान चलाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने ऐलोपैथी के साथ ही आयुष का भी प्रचार-प्रसार करने पर जोर दिया।

कहा कि पीएचसी एवं सीएचसी लेवल तक सभी आवश्यक उपकरण, दवाएं एवं अन्य सामग्री पूर्व में उपलब्ध करा दी जाए। उन्होंने कहा,कोविड की दूसरी लहर के मुकाबले प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता बेहतर स्थिति में है। उन्होंने कहा कि आयुष विभाग द्वारा इम्यूनिटी बूस्ट करने हेतु किए कार्यों को जारी रखा जाए व प्रचार-प्रसार भी किया जाए।

सीएस ने मेडिकल इक्यूपमेंट डिस्ट्रीब्यूशन और ड्रग सप्लाई मैनेजमेंट से सम्बन्धित सभी तैयारियां सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव आनन्दवर्धन,सचिव अमित नेगी,आर.मीनाक्षीसुंदरम,डीजीपी संजय गुंज्याल, वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दिलीप जावलकर, एसएस मुरूगेशन एवं चन्द्रेश यादव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

कोविड केस में बढ़ोतरी और टेस्टिंग में सुस्ती
उत्तराखंड में सात दिन में सात गुना केस बढ़ चुके हैं लेकिन टेस्टिंग में तेजी नहीं आई है। एक जनवरी को एक दिन में जहां 118 केस आए थे वहीं आठ जनवरी को 814 केस आए। टेस्ट अब भी 15 हजार के आस पास है। एक जनवरी को 118 केस आए, टेस्ट 15090 हुए। दो जनवरी को केस 259 सामने आए, टेस्ट सिर्फ 13529 हुए। तीन जनवरी को 189 केस सामने आए, टेस्ट 15528 हुए। चार जनवरी को 310 केस सामने आए, टेस्ट 15915 हुए।

पांच जनवरी को 505 केस आए, टेस्ट 18447 हुए। छह जनवरी को 630 केस आए, टेस्ट 16844 हुए। सात जनवरी को 814 केस आए, टेस्ट 14566 हुए। सोशल डेवलपमेंट फॉर कम्युनिटी फाउंडेशन के संस्थापक अनूप नौटियाल ने बताया कि जब तक टेस्टिंग नहीं बढ़ेगी, कोविड की सही तस्वीर सामने नहीं आएगी। इसके लिए केंद्र के निर्देशानुसार कोविड टेस्टिंग बढ़ाई जाए।