दिल्ली के अस्पतालों में एक हजार से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मी हुए कोरोना संक्रमित


दिल्ली में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले बढ़ने पर अब बड़ी संख्या में स्वास्थ्यकर्मी भी चपेट में आ रहे हैं। इससे अस्पतालों में स्वास्थ्य कर्मियों की कमी का संकट खड़ा हो सकता है। अलग-अलग अस्पतालों में काम करने वाले एक हजार से अधिक स्वास्थ्य कर्मी पिछले एक सप्ताह में कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। कई विभागों में तो 70 फीसदी तक डॉक्टर कोरोना की चपेट में हैं। इसे देखते हुए लेडी हार्डिंग अस्पताल तो कोरोना संक्रमित स्वास्थ्य कर्मियों को पांच दिन के आइसोलेशन के बाद बिना जांच किए अस्पताल का काम शुरू करने के लिए कह रहा है।

एम्स में 200 संक्रमित : एम्स में काम करने वाले 70 डॉक्टरों समेत 200 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। इनमें रेजिडेंट डॉक्टरों की संख्या अधिक है। कुछ विभागों में तो आधे से अधिक डॉक्टर कोरोना की चपेट में हैं। एम्स के न्यूरोसर्जरी, न्यूरोलॉजी विभाग में लगभग आधे डॉक्टर कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। एनेस्थेसिया विभाग के करीब 20 डॉक्टर संक्रमित हैं। वहीं, कई नर्सिंग कर्मचारी भी होम आइसोलेशन में हैं।

निदेशक कार्यालय के कर्मचारी भी चपेट में : एम्स में निदेशक के कार्यालय में काम करने वाले कई कर्मचारी कोरोना की चपेट में आने के बाद से आइसोलेशन में हैं। एम्स के 21 स्वास्थ्यकर्मी तो ऐसे हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा है।

सफदरजंग में 60 डॉक्टरों समेत 165 को संक्रमण : सफदरजंग अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार शाम तक 70 डॉक्टरों समेत कुल 165 स्वास्थ्य कर्मियोंको कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं, सफदरजंग अस्पताल के प्रसूति रोग विभाग में कई रेजिडेंट डॉक्टर भी कोरोना की चपेट में हैं। विभाग की प्रमुख समेत कुल 26 डॉक्टर आइसोलेशन में हैं। एनेस्थेसिया, मेडिसिन, गैस्ट्रो और रेडियोलॉजी में भी कई डॉक्टर संक्रमित मिले हैं।

आधे डॉक्टर आइसोलेशन में : लेडी हार्डिंग अस्पताल के 100 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी कोरोना की चपेट में हैं। मेडिसिन विभाग में काम करने वाले लगभग आधे डॉक्टर आइसोलेशन में हैं। ऐसे में अस्पताल में भर्ती मरीजों की देखभाल में भी समस्याएं आ रही हैं।

आरएमएल में 110 पॉजिटिव

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में पिछले एक सप्ताह में 110 स्वास्थ्यकर्मी के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनमें 65 डॉक्टर हैं। संक्रमण के शिकार एक डॉक्टर ने बताया कि उन्हें सिर में तेज दर्द, बदन दर्द की शिकायत है। जांच कराई तो कोरोना की पुष्टि हुई। संपर्क में आए कई डॉक्टर संक्रमित मिल चुके हैं। लोक नायक अस्पताल में 30 और जीटीबी में भी 50 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। अंबेडकर अस्पताल में भी अबतक 21 स्वास्थ्यकर्मियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली है। लेडी हार्डिंग अस्पताल में भी 100 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी पिछले एक सप्ताह में कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं।

कहां कितने स्वास्थ्यकर्मी संक्रमण से जूझ रहे

एम्स200
सफदरजंग अस्पताल165
हिंदूराव अस्पताल30
लेडी हॉर्डिंग अस्पताल100
आरएमएल अस्पताल110
अंबेडकर अस्पताल21
लोकनायक अस्पताल30
जीटीबी अस्पताल50
राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी22

गंगाराम में भर्ती 28 फीसदी कोरोना मरीज स्वास्थ्यकर्मी

सर गंगा राम अस्पताल में कुल 53 संक्रमित मरीज भर्ती हैं। इनमें पांच डॉक्टर, सात नर्स और तीन अन्य स्वथ्यकर्मी शामिल हैं। इस तरह देखें तो अस्पताल में भर्ती 28 फीसदी संक्रमित स्वास्थ्यकर्मी हैं। सर गंगा राम अस्पताल के अध्यक्ष (प्रबंधन बोर्ड) डॉ. डी एस राणा ने बताया कि 53 में से छह मरीज आईसीयू में हैं।

राजधानी दिल्ली में स्वास्थ्यकर्मियों, डॉक्टर और अन्य मेडिकल स्टाफ के कोरोना संक्रमित होने के मामले भी सामने आए हैं। उन सभी का इलाज़ चल रहा है। उम्मीद है कि वे जल्द स्वस्थ होकर वापस लौटेंगे।” -सत्येंद्र जैन, स्वास्थ्य मंत्री दिल्ली सरकार

,