IND vs SA: केएल राहुल की कप्तानी में क्यों हारी भारतीय टीम, जानिए वजह…..


नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व आलराउंडर वर्नन फिलेंडर का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों ने वांडरर्स में दूसरे टेस्ट में सीरीज में बराबरी हासिल करने वाली जीत के दौरान दूसरी पारी में आक्रामक रवैया अपनाकर भारतीय गेंदबाजों को हैरान कर दिया. मेजबान दक्षिण अफ्रीका ने पहले टेस्ट में 113 रन की हार के बाद वापसी करते हुए यहां दूसरे टेस्ट में भारत को 7 विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर की.

टीम इंडिया को झेलनी पड़ी हार

दक्षिण अफ्रीका के लिए पहली पारी में कीगन पीटरसन और तेंबा बावुमा ने अर्धशतक जड़े जबकि दूसरी पारी में कप्तान डीन एल्गर ने नाबाद 96 रन बनाकर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई. फिलेंडर ने क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) की वेबसाइट पर कहा, ‘पिछले कुछ समय में यह शायद दक्षिण अफ्रीकी टीम का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी प्रदर्शन था जिसे मैंने देखा,’ उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया और मुझे लगता है कि जिस तरह डीन ने बल्ले से अगुआई की वह बेहतरीन था. उसने सुनिश्चित किया कि वह अन्य बल्लेबाजों के साथ साझेदारी बनाने के लिए टिका रहे.’

सामने आई हार की असल वजह

फिलेंडर का मानना है कि टीम की मानसिकता ने बड़ा अंतर पैदा किया. उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि पहली पारी में खिलाड़ी थोड़ी हिचकिचाहट दिखा रहे थे, शायद थोड़े अधिक रक्षात्मक. लेकिन अगर आप दूसरी पारी में देखें तो उनका रवैया स्पष्ट था.’ फिलेंडर ने कहा, ‘खिलाड़ी तेजी से रन बनाने का प्रयास कर रहे थे और आप देख सकते हैं कि इससे किस तरह का अंतर पैदा हुआ, उनका हावभाव और इसने भारतीय गेंदबाजों को हैरान कर दिया जिन्होंने उम्मीद नहीं की थी कि दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज इस तरह आक्रमण करेंगे.’

गेंदबाजों की भी तारीफ

दक्षिण अफ्रीका की ओर से 64 टेस्ट, 30 वनडे अंतरराष्ट्रीय और सात टी20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले 36 साल के फिलेंडर का मानना है कि टीम की गेंदबाजी इकाई ने अच्छा काम किया. उन्होंने कहा, ‘हमें धीमी शुरुआत करने वालों के रूप में जाना जाता है लेकिन टॉस हारने के बाद खिलाड़ियों ने जिस तरह वापसी की वह शानदार थी. गेंदबाजों से काफी उम्मीदें थी कि वे भारत की पूरी टीम को आउट करेंगे और उन्होंने ऐसा किया. मुझे लगता है कि उन्होंने साझेदारियों में काफी अच्छी गेंदबाजी की.’ दक्षिण अफ्रीका की ओर से 224 टेस्ट विकेट चटकाने के अलावा 1779 रन बनाने वाले फिलेंडर ने तेज गेंदबाज कागिसो रबाडा की सराहना की.

तीसरा मैच होगा कांटे का

सीरीज का तीसरा और निर्णायक मुकाबला मंगलवार से न्यूलैंड्स में खेला जाएगा और फिलेंडर का मानना है कि दोनों टीमों के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिलेगा. उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि दोनों टीमों के बीच केपटाउन टेस्ट से पहले अधिक अंतर है. पिछले टेस्ट से दक्षिण अफ्रीका को सभी विभाग में फायदा मिलेगा.’ फिलेंडर ने कहा, ‘अधिकांश समय आपको इसी चीज की जरूरत होती है, टीम के रूप में एक जीत जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़े और लय मिले. उनमें अब आत्मविश्वास है कि वे सीरीज जीत सकते हैं. हमारे पसंदीदा मैदानों में से एक न्यूलैंड्स में मैं अंतिम टेस्ट को लेकर उत्सुक हूं. यह रोमांचक मुकाबला होने वाला है.’