यूपी चुनाव से भाजपा को लगा बड़ा झटका, अभी और इतने MLA दे सकते है इस्तीफा


उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है. वोटिंग करीब एक महीने पहले बीजेपी को झटके पर झटके लग रहे हैं. बीते दो दिनों में यूपी की योगी सरकार और बीजेपी में जिस तरह से इस्तीफों की झड़ी लगी है, उसे देखते हुए अटकलें लग रही हैं कि अभी और इस्तीफे भी हो सकते है. सूत्रों से ऐसा पता चला है कि ऐसे कुल 13 विधायकों की लिस्ट है. जो बीजेपी छोड़ सकते हैं. स्वामी प्रसाद मौर्य तो चौदह तारीख को धमाका करने की बात कह चुके हैं.

दो दिन में सात विधायकों के इस्तीफे

  • 11 जनवरी, 2022 कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य समेत 4 विधायकों का इस्तीफा.
  • 12 जनवरी, 2022 कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान समेत 3 विधायकों का इस्तीफा.

क्या यूपी में बीजेपी के कुनबे से इस्तीफे की एक और बड़ी खेप आने वाली है? बीजेपी में ऐसी भगदड़ की अटकलें इसलिए लगाई जा रही हैं, क्योंकि यूपी में चुनावी मौसम में योगी सरकार और बीजेपी को दो दिन में दो बड़े झटके लग चुके हैं. मंगलवार 11 जनवरी को कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफे का एलान करके धमाका कर दिया. उनके साथ 3 अन्य विधायकों ने भी बीजेपी छोड़ दी. इसके अगले ही दिन यानी 12 जनवरी को वन और पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चौहान का भी इस्तीफा हो गया. इस तरह यूपी में बीजेपी दो दिन में कुल 7 विधायकों से हाथ धो बैठी है.

13 विधायक पार्टी छोड़ सकते हैं

सूत्रों से पता चला है कि यूपी बीजेपी के कुल 13 विधायक पार्टी छोड़ सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक इसकी लिस्ट स्वामी प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव को सौंपी है. दिलचस्प बात ये है कि मुंबई में बैठे एनसीपी के मुखिया शरद पवार तक को ये खबर है कि यूपी में बीजेपी के 13 विधायक पार्टी छोड़ने वाले हैं, उन्होंने 12 तारीख को ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बात सार्वजनिक कर दी थी. प्रमुख शरद पवार ने कहा, ‘’उत्तर प्रदेश में परिवर्तन आने वाला है. मौर्य जी ने जो इस्तीफा दिया मिनिस्ट्री से और पार्टी से और इस्तीफा देकर समाजवादी पार्टी को जो सहयोग देने की बात कही. उनके साथ ही 13 एमएलए और कुछ साथी भी बीजेपी छोड़ने वाले हैं. आप देखेंगे कि अगले कुछ दिनों में हर दिन कोई न कोई नया चेहरा वहां छोड़कर यहां आएगा.’’

अवतार सिंह भड़ाना ने RLD का दामन थामा

योगी सरकार के वन और पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चौहान ने इस्तीफे दे दिया. उनके अलावा भदोही से बीजेपी विधायक रवींद्र नांंथ त्रिपाठी ने अपने इस्तीफे का ऐलान किया. पश्चिमी यूपी के कद्दावर नेता अवतार सिंह भड़ाना ने भी बीजेपी छोड़कर RLD का दामन थाम लिया. तो दो दिन में दो कैबिनेट मंत्रियों समेत 7 विधायकों ने तो बीजेपी से इस्तीफा देकर खलबली मचा दी. अगर 13 विधायकों वाला आंकड़ा सही है तो इसका मतलब ये हुआ कि यूपी बीजेपी में अभी इस्तीफे की एक बड़ी खेप और आने वाली है.

सबसे दिलचस्प बात ये है कि दो दिन में योगी सरकार के जिन दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफे दिए, दोनों ने उसके बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की. इस पर अखिलेश ने कहा, ‘’जनता नेगेटिव पॉ़लिटिक्स से थक गई है. भेदभाव की राजनीति हो रही है. नफरत की राजनीति हो रही है. बदलाव के लिए प्रोग्रेसिव पॉलिटिक्स के लिए समाजवादी पार्टी की लड़ाई को और आसान किया.’’