दिल्ली में 80 फीसद वयस्कों को लगी वैक्सीन, इन अस्पतालों ने लगाए सबसे ज्यादा टीके


नई दिल्ली, कोरोना महामारी के विरुद्ध शुरू हुई लड़ाई में सबसे बड़ा हथियार टीकाकरण साबित हुआ है। इस महाअभियान का आगाज देश में एक साल पहले 16 जनवरी के दिन हुआ था। इसी दिन देश की राजधानी दिल्ली में भी टीकाकरण की शुरुआत हुई थी। इसका रविवार को एक साल पूरा हो रहा है। इस एक साल के सफर में राजधानी में अभी तक 80 प्रतिशत से ज्यादा वयस्क आबादी का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। शेष 20 प्रतिशत आबादी का पूर्ण टीकाकरण भी डेढ़ महीने में पूरा होने की उम्मीद है। राजधानी में अभी तक टीके की कुल दो करोड़ 85 लाख 38 हजार 784 डोज दी जा चुकी हैं। इनमें सिंगल, डबल और सतर्कता डोज लेने वाले शामिल हैं।

दिल्ली में टीकाकरण की पहली एक करोड़ डोज लगने में 197 दिन का समय लगा। वहीं, इसके बाद एक से दो करोड़ पहुंचने में मात्र 84 दिन लगे। राजधानी में मतदाता सूची के अनुसार वयस्कों की कुल संख्या एक करोड़ 47 लाख 95 हजार 549 है। इन सभी वयस्कों को नवंबर तक टीके की एक डोज लगाई जा चुकी थी। इसके साथ ही इनमें से करीब 79 लाख लोगों को टीके की दोनों डोज लग चुकी थी।

इस तरह 10 महीने में ही राजधानी की कुल वयस्क आबादी टीके की एक डोज और आधी से ज्यादा वयस्क आबादी टीके की दोनों डोज ले चुकी थी। इसके बाद रफ्तार कुछ कम हुई, लेकिन ओमिक्रोन के मामले बढ़ने पर रफ्तार दोगुनी हो गई है। पिछले एक महीने से प्रतिदिन डेढ़ लाख से ज्यादा लोग टीका लगवा रहे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार दिल्ली में बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों के लोग रहते हैं, जो यहां के मतदाता नहीं हैं। इसलिए उन लोगों और आने वाले उनके संबंधियों को भी दिल्ली में टीका लगने के कारण दिल्ली में टीके की सिंगल डोज का आंकड़ा एक करोड़ 65 लाख के करीब पहुंच गया है। आने वाले एक महीने में दिल्ली की पूरी वयस्क आबादी को टीके की दोनों डोज लगने का अनुमान है।

अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी अधिक ले रहे हैं सतर्कता डोज : शनिवार को 18,668 पात्र लोगों ने टीके की सतर्कता डोज ली। जिसमें सबसे अधिक 8656 अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी शामिल हैं। अब तक कुल एक लाख 26 हजार 486 लोगों को सतर्कता डोज लगी है। वहीं शनिवार को 15 से 18 साल की उम्र के 49,865 किशोरों ने टीके की पहली डोज ली। इसलिए अब तक कुल पांच लाख 57 हजार 136 किशोरों को टीके की पहली डोज दी जा चुकी है। राजधानी में किशोरों की कुल संख्या करीब दस लाख है।

लोकनायक ने लगाईं 88 हजार डोज: दिल्ली सरकार के सबसे बड़े अस्पताल लोकनायक द्वारा टीकाकरण की शुरूआत से अब तक एक साल में कुल 88 हजार लोगों को टीके की डोज लगाई हैं। यह 15 जनवरी 2022 तक का आंकड़ा है।

एम्स ने लगाई डेढ़ लाख से ज्यादा डोज: टीकाकरण की शुरुआत से लेकर अभी तक राजधानी के अस्पतालों में सबसे अधिक डोज एम्स ने लगाई हैं। तीन जनवरी 2022 तक एम्स में कुल एक लाख 59 हजार 669 लोगों को टीके की डोज लगाई जा चुकी हैं। पिछले साल टीकाकरण की शुरूआत के पहले दिन एम्स में सफाईकर्मी मनीष को पहला टीका लगाया गया था।