बीजेपी को बड़ा झटका, पूर्व मंत्री दारा सिंह चौहान सपा में हुए शामिल


सपा ने बीजेपी के एक और बड़ा झटका दिया है। स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद योगी सरकार में मंत्री रहे दारा सिंह चौहान को अखिलेश यादव ने अपने पाले में कर लिया है। लखनऊ स्थित सपा कार्यालय पर रविवार को दारा सिंह चौहान ने सपा का दामन थाम लिया है। अखिलेश यादव ने उन्हें सदस्यता दिलाई। समर्थकों के साथ सपा की सदस्यता के बाद पूर्व मंत्री दारा सिंह चौहान ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सरकार सबका साथ सबका विकास का नारा देकर बनाई गई थी पर विकास कुछ चुनिंदा लोगों का ही किया गया।

आपको बता दें दारा सिंह चौहान ने बीते दिनों सरकार से इस्तीफा दिया था। राज्यपाल को भेजे गए लेटर में दारा सिंह ने लिखा था, मैंने पूरे मनोयोग से अपने विभाग की बेहतरी के लिए काम किया, लेकिन योगी सरकार की पिछड़ों, वंचितों, दलितों, किसानों और बेरोजगार नौजवानों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के साथ-साथ पिछड़ों और दलितों के आरक्षण के साथ जो खिलवाड़ हो रहा है, उससे आहत होकर मैं उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे रहा हूं। 

दारा सिंह चौहान ने मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। कयास लगाए जा रहे थे कि दारा सिंह समाजवादी पार्टी ज्वाइन करेंगे। उधर, अखिलेश यादव ने भी दारा सिंह से मुलाकात के बाद एक फोटो के साथ ट्वीट किया था।  

बसपा छोड़कर भाजपा में हुए थे शामिल

स्वामी प्रसाद मौर्य की तरह दारा सिंह चौहान भी बीजेपी में आने से पहले बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के नेता था। 2015 में वह बसपा का साथ छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे। तीन के बार के सांसद को तत्कालीन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बीजेपी की सदस्यता दिलाई थई। चौहान को ओबीसी मोर्चा का अध्यक्ष भी बनाया गया। मधुबन विधानसभा सीट से जीतने के बाद उन्हें योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया।