यूपी चुनाव: मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव भाजपा में हो सकती है शामिल

सपा संरक्षक मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव बीजेपी में शामिल होने की अटकलें तेज हो गईं। सूत्रों की मानें तो उनकी बीजेपी से बातचीत चल रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि अपर्णा यादव समेत कई और अन्य पार्टियों के दिग्गज नेता बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। अपर्णा बिष्ट यादव लखनऊ की कैंट सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर 2017 में विधानसभा लड़ चुकी हैं। अपर्णा पहले सीएम योगी से मुलाकात कर चुकी हैं और समय-समय पर पीएम मोदी व सीएम योगी की प्रशंसा करती रहती हैं। अपर्णा बिष्ट यादव को योगी सरकार ने वाई श्रेणी की सुरक्षा दे रखी है।

राम मंदिर निर्माण के लिए दिया था 11 लाख रुपये दान  

अपर्णा यादव अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए 11 लाख रुपये दान किया था। अपर्णा यादव ने कहा था कि, “मैंने ये स्वेच्छा से किया है। मैं अपने परिवार के लिए जिम्मेदारी नहीं ले सकती। अतीत कभी भी भविष्य के बराबर नहीं होता है। उन्होंने कहा था कि राम भारत के चरित्र, संस्कार और सभी की आस्था के केन्द्र हैं। 

चंदे पर अखिलेश ने किया था तंज

राम मंदिर निर्माण के लिए सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव द्वारा दिए गए 11 लाख रुपये के चंदे पर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने भाजपा पर तंज कसा था। अखिलेश यादव ने कहा था कि अवसर ढूंढने वालों ने आपदा में अवसर ढूंढ लिया है। अखिलेश ने कहा था कि भाजपा को क्या दक्षिणा स्वीकार नहीं है। हम राम मंदिर के लिए दक्षिणा दे रहे हैं।

मुलायम सिंह के छोटे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी है अपर्णा

आपको बता दें कि मुलायम सिंह के छोटे बेटे प्रतीक यादव और अपर्णा ने सालों के प्रेम संबंध के बाद 2011 में शादी की थी। 2011 में हुई ये शादी शहर की चर्चित शादियों में से एक थी। अपर्णा-प्रतीक की इस शादी में अनिल अंबानी, अमिताभ बच्चन सरीखे सेलिब्रेटीज शामिल हुए थे। अर्पणा बिष्ट यादव ने ब्रिटेन की मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल पॉलिटिक्स में मास्टर डिग्री हासिल की है।

पत्नी अपर्णा यादव को राजनीति में देखना चा‌हते है प्रतीक

जानकारों की मानें तो प्रतीक खुद राजनीति में नहीं आना चाहते वो अपनी पत्नी अपर्णा यादव को राजनीति में देखना चा‌हते है। अपनी पत्नी अपर्णा को प्रतीक हर तरह की आजादी देते हैं। इसका उदाहरण है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ करके अपर्णा यादव सुर्खियों में आ गई थी। अपर्णा बिष्ट यादव लखनऊ की  कैंट सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर 2017 में विधानसभा लड़ चुकी है।