गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमले की आशंका, IB ने जारी किया अलर्ट, पीएम सहित बड़े नेताओं पर खतरा


नई दिल्लीः गणतंत्र दिवस से पहले सुरक्षा को लेकर खुफिया एजेंसियों ने बड़ा अलर्ट जारी किया है. इसको लेकर इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) ने नौ पन्नों का अलर्ट दिल्ली पुलिस से शेयर किया है. अलर्ट में 26 जनवरी के मौके पर आतंकी हमले की आशंका जताई गई है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को लेकर भी खतरा जाहिर किया है. इसको लेकर आईबी ने दिल्ली पुलिस को सुरक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम करने को कहा है.

खालिस्तानी आतंकी बना सकते हैं निशाना
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस को आईबी ने अलर्ट भेजा है. उसमें सबसे बड़ा खुलासा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को लेकर किया गया है. अलर्ट के मुताबिक, फरवरी 2021 को मिले इनपुट के मुताबिक खालिस्तानी एक्टिविस्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मीटिंग और टूर को टारगेट कर सकते हैं. ऐसे में प्रॉपर स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) के तहत सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने को कहा गया है.

आईएसआई के इशारे पर बनी योजना
अलर्ट में बताया गया है कि मार्च 2021 को मिले इनपुट के मुताबिक, खालिस्तान लिबरेशन फोर्स पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर भारत के बड़े नेताओं और वीवीआईपी को टारगेट करने की योजना बना रहा है. ये जानकारी भी मिली है कि खालिस्तान लिबरेशन फोर्स ने इस्लामिक आतंकियों के साथ नया गठजोड़ भी बनाया है और ये सबकुछ आईएसआई ने ही कराया है. 

गणतंत्र दिवस परेड पर भी हो सकता है हमला
गृह मंत्रालय के जरिए भेजे गए आईबी अलर्ट में कुल 32 पॉइंट पर एसओपी, जवाबी उपायों और भारत में एक्टिव आतंकवादी संगठनों के बारे में बताया गया है. अलर्ट में आईबी ने गणतंत्र दिवस परेड में आतंकी हमले की भी आशंका जताई है. साथ ही कहा गया है कि आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा, जैश, हरकत-उल-मुजाहिदीन, हिजबुल-उल-मुजाहिदीन, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में एक्टिव आतंकी संगठन वीवीआईपी को निशाना बना सकते हैं.

पंजाब में दोबारा भड़काना चाहते हैं आतंकवाद
अलर्ट के मुताबिक, आतंकी भीड़भाड़ वाले स्थानों में तोड़फोड़ कर सकते हैं और हमला कर सकते हैं. आईएसआई समर्थित पाकिस्तान में स्थित खालिस्तानी आतंकवादी समूह पंजाब में फिर से संगठित होने और आतंकवाद को फिर से पनपाने का प्रयास कर रहे हैं और पंजाब और अन्य राज्यों में हमलों की योजना बना रहे हैं. फरवरी 2021 के इनपुट के मुताबिक, खालिस्तानी आतंकवादी समूह प्रधानमंत्री की बैठक और दौरे पर हमला करने की योजना बना रहे हैं. अन्य प्रो खालिस्तानी आतंकवादी संगठन भी हाई प्रोफाइल गणमान्य व्यक्तियों को टारगेट करने की योजना बना रहे हैं. अलर्ट में ड्रोन टेरर स्ट्राइक की आशंका भी जाहिर की गई है.