यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव पहली बार लड़ेंगे विधान सभा चुनाव, आजमगढ़ से हैं सांसद


लखनऊ: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधान सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी द्वारा सीएम योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर से उतारने के बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी विधान सभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है. सूत्रों के अनुसार, अखिलेश यादव पहली बार विधान सभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं.

आजमगढ़ से सांसद हैं अखिलेश यादव

बता दें कि अखिलेश यादव फिलहाल आजमगढ़ लोक सभा सीट से सांसद है. अखिलेश साल 2000 में पहली बार कन्नौज लोक सभा सीट से चुनाव जीतकर संसद के निचले सदन यानी लोक सभा में पहुंचे थे. 2004 और 2009 के आम चुनावों में भी उन्होंने कन्नौज से जीत दर्ज की और लोकसभा पहुंचे. साल 2012 में जब अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तो उन्हें कन्नौज लोक सभा सीट से इस्तीफा देना पड़ा. मुख्यमंत्री बनने के बाद अखिलेश यादव विधान परिषद के सदस्य बने थे.

किस सीट से चुनाव लड़ेंगे अखिलेश यादव?

अखिलेश यादवपहली बार विधान सभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं, हालांकि अभी तक पार्टी की ओर से सीट की घोषणा नहीं की गई है. सूत्रों के अनुसार, अखिलेश यादव पूर्वांचल या मध्य यूपी के किसी सीट से तीसरे और चौथे चरण के चुनाव में मैदान में उतर सकते हैं. बताया जा रहा है कि अखिलेश आजमगढ़ या गाजीपुर विधान सभा सीट से चुनावी मैदान में उतर सकते हैं.

यूपी में सात चरणों में होगा विधान सभा चुनाव

बता दें कि उत्तर प्रदेश में इस बार 403 विधान सभा सीटों पर सात चरणों में चुनाव होगा और मतगणना 10 मार्च को होगी. यूपी में विधान सभा चुनाव की शुरुआत 10 फरवरी को राज्य के पश्चिमी हिस्से के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी. इसके बाद 14 फरवरी को दूसरे चरण में 55 सीटों पर, 20 फरवरी को तीसरे चरण में 59 सीटों पर, 23 फरवरी को चौथे चरण में 60 सीटों पर, 27 फरवरी को पांचवें चरण में 60 सीटों पर, तीन मार्च को छठे चरण में 57 सीटों पर और सात मार्च को सातवें तथा अंतिम चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा.