IPL मेगा ऑक्शन 2022 में सबसे पहले बिकेंगे दस मार्की प्लेयर, खरीदने के लिए टूट पड़ेंगी टीमें

नई दिल्ली: आईपीएल मेगा ऑक्शन 2022 का आयोजन आज से बेंगलुरु में होगा. दो दिन तक चलने वाले इस ऑक्शन में कई खिलाड़ियों पर फ्रेंचाइजियां मोटी रकम लगाने को बेताब हैं. इस बार नीलामी में 10 टीमें, 590 खिलाड़ियों के लिए लगभग 561 करोड़ रुपये खर्च करने वाली है. 10 मार्की प्लेयर ऐसे हैं, जो सबसे पहले खरीदे जाएंगे, इन पर सबसे पहले बोली लगेगी. 

सबसे पहले बिकेंगे ये 10 प्लेयर 

आईपीएल रिटेंशन में कई धाकड़ प्लेयर्स को टीमों ने रिटेन नहीं किया है. ऐसे में इन प्लेयर्स का आईपीएल मेगा ऑक्शन में उतरना तय है. मेगा ऑक्शन में कई ऐसे टैलेंटेड क्रिकेटर्स हैं, जो इस नीलामी में बड़ी रकम ले जा सकते हैं. इनमें श्रेयस अय्यर, शिखर धवन, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, क्विंटन डीकॉक, पैट कमिंस, कैगिसो रबाडा, ट्रेंट बोल्ट, डेविड वॉर्नर, फॉफ डुप्लेसिस. ये प्लेयर्स अपने दम पर मैच का नक्शा बदलने के लिए जाने जाते हैं. नीलामी में इन खिलाड़ियों को खरीदने के लिए टीमों के बीच जंग देखने को मिल सकती है. इन सभी खिलाड़ियों ने अपना बेस प्राइस 2 करोड़ रुपये रखा है. आईपीएल मेगा ऑक्शन में ये 10 प्लेयर सबसे पहले बिकेंगे. इन्हीं के बिकने के साथ आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन की शुरुआत होगी. 

सबसे महंगा बिक सकता है ये विकेटकीपर 

क्विंटन डिकॉक को मुंबई इंडियंस के द्वारा रिटेन नहीं किया गया है. साउथ अफ्रीका का ये विकेटकीपर बल्लेबाज अपनी खतरनाक बल्लेबाजी के कारण पूरी दुनिया में फेमस है. आईपीएल मेगा ऑक्शन में क्विंटन डिकॉक की डिमांड बहुत ही ज्यादा होगी. वह ओपनिंग करते हुए तेजी से रन बना सकते हैं. डीकॉक ने अब तक 77 IPL मुकाबले खेले है और 2256 रन बनाए हैं, जिसमें एक तूफानी शतक शामिल है. इस विस्फोटक बल्लेबाज को खरीदने के लिए टीमें पानी की तरह पैसा बहा देंगी. डिकॉक ने टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया है. ऐसे में उनका ध्यान सफेद गेंद के क्रिकेट पर ही है और वह बहुत ही शानदार फॉर्म में हैं. 

इन विदेशी प्लेयर्स पर रहेगी सभी टीमों की निगाहें

6 विदेशी प्लेयर्स ऐसे हैं, जिन्हें सभी टीमें अपने खेमे में करने के लिए आतुर होंगी. डेविड वॉर्नर, फॉफ डुप्लेसिस, क्विंटन डिकॉक, पैट कमिंस, कैगिसो रबाडा, ट्रेंट बोल्ट और फॉफ डुप्लेसिस. डेविड वॉर्नर किसी भी टीम के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं. वह अपनी धाकड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने आतिशी बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया टीम को टी20 वर्ल्ड कप दिलाया था. उन्हीं की कप्तानी में हैदराबाद ने अपना एकमात्र खिताब जीता था. बोल्ट और रबाडा अपनी कातिलाना गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं. वह चंद गेंदों में ही मैच का रुख बदल देते हैं. उनकी स्विंग गेंदबाजी का कोई भी मुकाबला नहीं है.