पंजाब चुनाव: होशियारपुर में राहुल गांधी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कही यह बात

जालंधर, पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। गत दिवस प्रियंका गांधी की रैली व रोड शो के बाद आज राहुल गांधी होशियारपुर में रैली को संबोधित कर रहे हैं। राहुल ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार को दो उद्योगपति चला रहे हैं। भाजपा की केंद्र सरकार ने किसानों को सड़क पर आने को मजबूर किया। अपने भाषण के दौरान राहुल गांधी ने नवजोत सिंह सिद्धू की नाराजगी को भी कुछ कम करने का प्रयास किया। राहुल ने सिद्धू का नाम लेकर कई मुद्दों पर कहा कि उन्होंने पंजाब को लेकर चिंता जताई।

राहुल गांधी ने कहा कि वह पंजाब के किसानों को बधाई देते हैं, जिनके संघर्ष के कारण केंद्र सरकार को तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। कहा कि अगर यह बिल लागू हो जाते तो पूरे देश के किसानों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता। कांग्रेस नेता ने चन्नी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। कहा कि कैसे चरणजीत सिंह चन्नी ने तीन महीने में जनहित में कार्य किए। बिजली के दाम कम हुए, पेट्रोल-डीजल के दाम कम हुए। हर वर्ग के लिए काम हुए। 

राहुल ने कहा कि पंजाब में आकर गृह मंत्री अमित शाह ने नशे के मुद्दे पर टिप्पणी की। कहा कि जब अकाली भाजपा गठबंधन की सरकार थी तब उन्होंने इसकी बात क्यों नहीं की। कहा कि जब उन्होंने कुछ वर्ष पूर्व पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में पंजाब में नशे के मुद्दे को उठाया था तब उनका मजाक उड़ाया गया था। तब उन्होंने कहा कि था कि राहुल गांधी झूठ बोल रहे हैं। तब भाजपा नशे का कारोबार करने वालों की रक्षा कर रहे थे। 

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस को पता है कि पंजाब में नशे की दिक्कत है। इसके लिए चन्नी सरकार ने एक्शन लिया है। राहुल ने कहा कि होशियारपुर कृषि का सेंटर है। कांग्रेस सरकार यहां कलस्टर बनाएगी। यहां फूड पार्क और मशीन टूल्स का कलस्टर बनेगा। राहुल गांधी ने कहा कि केजरीवाल पंजाब आकर दिल्ली माडल की बात कर रहे हैं, लेकिन सच यह है कि वहां कुछ भी नहीं हुआ। दिल्ली में मोहल्ला क्लिनिक की शुरुआत शीला दीक्षित सरकार ने की थी। 

राहुल गांधी ने कहा कि पंजाब का चुनाव मामूली चुनाव नहीं है। इस चुनाव में पंजाबी नई सरकार चुनेंगे। कुछ महीने पहले हमने आपको नया सीएम दिया। चरणजीत सिंह चन्नी ने बेहतर काम किए। वह गरीब घर के बेटे हैं। वह गहराई से गरीबी को समझते हैं। चन्नी जब सरकार चलाएंगे तो अरबपतियों की नहीं पंजाब के गरीबों, किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापारियों की सरकार चलाएंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि देश के हर राज्य में बेरोजगारी फैल रही है, जिसका कारण नरेन्द्र मोदी की सरकार है, क्योंकि छोटे व्यापारियों, किसानों पर उन्होंने आक्रमण किया है। यह आक्रमण नोटबंदी से शुरू हुआ था। लोगों को लाइनों में लगना पड़ा था बैंक के सामने। राहुल ने लोगों से पूछा क्या आप लोगों ने किसी लाइन में अरबपति को खड़े हुए देखा। केवल दुकानदार गरीब किसान ही उस लाइन में खड़े थे। प्रधानमंत्री ने छोटे लोगों, गरीब लोगों, छोटे व्यापारियों, छोटे कारोबारियों, छोटे उद्यमियों की जेब से पैसा निकालकर दो-तीन बड़े अरबपतियों की जेब में डाल प्रधानमंत्री कहते थे कि 1500000 रुपये हर एक व्यक्ति की आएंगे, लेकिन किसी को नहीं मिला। नरेन्द्र मोदी अब काले धन की बात क्यों नहीं करते।

राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी आज पंजाब में हैं। भ्रष्टाचार और रोजगार और काले धन के बारे में एक शब्द नहीं बोलेंगे। वह कहेंगे ही नहीं पहले नोटबंदी की, फिर गलत ढंग से जीएसटी को लागू किया। कोई एक व्यक्ति बताएं कि क्या उसको जीएसटी से फायदा हुआ। केवल फार्म भरवाए जा रहे हैं और इसका फायदा केवल दो-तीन अरबपतियों को हुआ। इसके बाद मोदी जी कृषि के कानून लेकर आए और देश का किसान इसके विरोध में खड़ा हो गया।

राहुल ने कहा कि पंजाब के किसान इन कानूनों के खिलाफ ठंड में कोरोना के समय में केंद्र सरकार के खिलाफ खड़े हुए डटे रहे। पंजाब के किसानों और देश के किसानों ने कहा कि यह कानून लागू नहीं होने देंगे और कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी रही। लोगों ने ने यह देखा है। भाजपा और अकाली दल ने इन बिलों को लेकर क्या -क्या कहा आप सभी ने देखा है। एक वर्ष बाद बाद मोदी जी ने कहा कि गलती हो गई। 700 किसानों की जान चली गई उसके बाद माफी मांगी।

कांग्रेस नेता ने कहा कि जान गंवाने वाले किसानों के लिए दो मिनट का मौन रखने का प्रधानमंत्री के पास समय भी नहीं था। केंद्र सरकार ने मृतक किसानों के परिवारों को कोई मुआवजा नहीं दिया। हमारी पंजाब और राजस्थान की सरकार ने मुआवजा दिया। अमित शाह जी आए उन्होंने नशे के बारे में बोला। जब भाजपा अकाली दल के साथ गठबंधन सरकार में थी तब अमित शाह पंजाब क्यों नहीं आए और उन्होंने नशे के बारे में तब क्यों नहीं बोला। राहुल ने कहा कि जब उन्होंने पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में अपने भाषण में यह कहा था कि पंजाब में ड्रग्स की बहुत बड़ी समस्या है। तब अकाली दल और भाजपा के लोगों ने उनका मजाक उड़ाया और उन्होंने कहा कि राहुल गांधी पंजाब में जाकर झूठ बोल रहा है।

राहुल ने कहा कि जब उन्होंने ड्रग्स का मामला उठाया तो अकाली दल और भाजपा की सरकार थी। तब भाजपा अकालीयों की रक्षा कर रही थी और उनके खिलाफ एक शब्द नहीं बोला। अब आप कह रहे हैं कि पंजाब में ड्रग्स की प्रॉब्लम है। राहुल ने कहा कि हमने एक्शन लिया है, जो आपके मित्र हैं हमने उनके खिलाफ एक्शन लिया है और लेते रहेंगे वह पंजाब से ड्रग्स का नामोनिशान मिटा देंगे।