क्रेडिट कार्ड शुल्क बढ़ाने की तैयारी में वीजा और मास्टरकार्ड

नई दिल्ली, वॉल स्ट्रीट जर्नलक की एक रिपोर्ट के अनुसार, मास्टरकार्ड और वीजा उस फीस को बढ़ाने की तैयारी में है, जो कई बड़े व्यापारियों द्वारा उपभोक्ताओं का क्रेडिट कार्ड स्वीकार करने पर कंपनी को दी जाती है। इस मामले से परिचित लोगों और द वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा देखे गए एक दस्तावेज़ के अनुसार, शुल्क में वृद्धि, जो कोरोना महामारी के कारण पिछले दो वर्षों के दौरान नहीं हुई, उसे अगले महीने से लागू किया जाना है।

इंटरचेंज फीस में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। जब खरीदार अपने कार्ड का उपयोग किसी व्यापारी के यहां करते हैं, तो उस व्यापारी को इसके लिए शुल्क का भुगतान करना होता है, जिसे कार्ड नेटवर्क द्वारा निर्धारित किया जाता है। शुल्क उस बैंक को जाता है, जिसने कार्ड जारी किया था। इंटरचेंज शुल्क व्यापारियों के लिए लगातार परेशानी का कारण बना है।

हाल के वर्षों में रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड की लोकप्रियता बढ़ने के साथ-साथ इनकी इंटरचेंज लागत भी बढ़ी है। निल्सन रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी व्यापारियों ने कार्ड जारीकर्ताओं को 2021 में वीज़ा और मास्टरकार्ड क्रेडिट-कार्ड इंटरचेंज शुल्क के तौर पर अनुमानित 55.4 बिलियन डॉलर का भुगतान किया, जो 2012 में किए गए भुगतान के दोगुने से अधिक था।

वीज़ा और मास्टरकार्ड ने कहा कि कार्ड से भुगतान स्वीकार करने की क्षमता ने व्यवसायों को महामारी के दौरान मदद की। उन्होंने कहा है कि फीस, धोखाधड़ी की रोकथाम और नवाचार से संबंधित लागतों को कवर करने में मदद करती है। मास्टरकार्ड के प्रवक्ता ने कहा, “हमारा ध्यान सभी पक्षों के हितों को संतुलित करते हुए भुगतान की सेफ्टी और सिक्योरिटी सुनिश्चित करना है।”

मामले से परिचित लोगों और दस्तावेज़ के अनुसार, वीज़ा और मास्टरकार्ड की शुल्क वृद्धि कई ऑनलाइन उपभोक्ता क्रेडिट-कार्ड खरीद पर लागू होगी। वीज़ा के एक प्रवक्ता ने कहा कि व्यापारी उच्च शुल्क से बच सकते हैं यदि वे कुछ लेनदेन डेटा प्रदान करते हैं और इसकी टोकन सेवा का उपयोग करते हैं, जो कार्ड नंबर को मास्क करती है।

मास्टरकार्ड भी एक दर्जन से अधिक इन-स्टोर खरीद श्रेणियों पर शुल्क बढ़ाएगी। अधिकांश रिवार्ड कार्डों पर छोटे और मध्यम आकार के सुपरमार्केट उच्च इंटरचेंज शुल्क का भुगतान करेंगे। इन-स्टोर सामान्य खुदरा शुल्क भी बढ़ेगा।