रामनवमी पर झारखंड के लोहरदगा में हुई हिंसा पर हुआ बड़ा खुलासा, स्लीपर सेल ने रची थी साजिश

Lohardaga Violence on Ram Navami: रामनवमी पर झारखंड के लोहरदगा में हुई हिंसा (Lohardaga Violence) पर बड़ा खुलासा हुआ है. इस मामले में जिला प्रशासन का कहना है कि झारखंड (Jharkhand) में लंबे समय से स्लीपर सेल सक्रिय है. इसने ही हिंसा को लेकर साजिश रची थी.

लंबे समय से की जा रही थी साजिश

उनका कहना है कि लोहरदगा में हिंसा (Lohardaga Violence) के पीछे स्लीपर सेल का काम कर रहा था. इसके लिए लंबे समय से साजिश रची जा रही थी. हिंसा को साजिश के तहत अंजाम दिया गया.

विशेष संगठन के संपर्क में रहते हैं सदस्य

जिला प्रशासन ने कहा कि स्लीपर सेल के सदस्य किसी संगठन विशेष के संपर्क में रहते हैं और उसके के निर्देश पर कार्य को अंजाम देते हैं. लोहरदगा में स्लीपर सेल (Sleeper cell) की गतिविधियां पिछले 2 साल से चल रही है.

कई महीनों से सक्रिय सेल

उन्होंने कहा कि लोहरदगा में स्लीपर सेल (Sleeper cell) पिछले कई महीनों से सक्रिय है. जल्द ही स्लीपर सेल के सदस्यों को गिरफ्तारी करेंगे. ये लोग माहौल को खराब करने की कोशिश कर रहे हैं. लोगों से अपील है कि जो लोग इस तरह की अफवाह फैला रहे हैं, उनसे सावधान रहें.

पथराव के बाद शुरू हुई हिंसा

बता दें कि लोहरदगा में रामनवमी (Ram Navami) के अवसर पर शोभा यात्रा निकाली गई थी. इस दौरान शोभा यात्रा पर पथराव शुरू हो गया. इसके बाद हिंसा शुरू हो गई. उपद्रवियों ने दर्जनभर वाहनों में आग लगा दी. रामनवमी मेले में आग लगा दी गई.

हिंसा की चपेट में आया शहर

पूरा शहर सांप्रदायिक हिंसा की चपेट में आ गया था. इस हिंसा में एक व्यक्ति की मौत भी हो गई थी. वहीं, दर्जन भर लोग घायल हो गए थे.