खून से लिखा प्रधानमंत्री को पत्र….

वर्ष 2011 में जनपद गोंडा के खाद्य निगम में नियमावली को ताख पर रखकर 222 लोगों को नियमित रूप से नियुक्त कर दिया गया था।

इस मामले को भारतीय खाद्य निगम मजदूर यूनियन, उoप्रo के अध्यक्ष ज्ञान प्रसाद साहू ने पूरे सबूत के साथ उजागर करते हुए अपने खून से प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर श्रमिकों के हित में न्याय हेतु माँग की है।

साहू ने आरोप लगाते हुए कहाकि 2011 में कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में विभागीय अधिकारियों और बिचौलियों की मिलीभगत से वरिष्ठता क्रम और बिना मेडिकल जांच के फर्जी तरीके से सभी दो सौ बाईस लोगों को भ्रष्टाचार के माध्यम से लाभ पंहुचाया गया।

साहू ने कहाकि इस मामले पर अगर अति शीघ्र कोई कड़ी कार्यवाई नहीं की गई तो वो इस चयन प्रक्रिया से वंचित मजदूरों के अधिकारों के लिए हजरतगंज स्थित गाँधी प्रतिमा पर धरना देंगे।