जहांगीरपुरी हिंसा मामले में हुई बुलडोजर कार्रवाई पर कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद का बड़ा बयान, बोले- कानून में नहीं बुलडोजर कल्चर

Salman Khurshid on Bulldozer Action: देश में इन दिनों बुलडोजर कार्रवाई (Bulldozer Action) पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. जहांगीरपुरी हिंसा (Jahangirpuri violence) मामले में हुई बुलडोजर कार्रवाई का मामला सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court of India) तक पहुंच चुका है. इस बीच कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि कानून में बुलडोजर कल्चर की जगह नहीं है.

‘कानून में बुलडोजर कहां से आया’

मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि बुलडोजर कल्चर का स्थान कहां से हमारी कानून व्यवस्था में आया. कानून में बुलडोजर कल्चर की जगह नहीं है. किसी को घर को गिराने से पहले या किसी के जीवन को ऐसे नष्ट करने से पहले आप इतना भी नहीं कर सकते कि उसको एक नोटिस दे दें.’

‘ये अधिकार हमारे संविधान ने नहीं दिया’ 

उन्होंने आगे कहा, ‘किसी के खिलाफ एक्शन लेने से पहले उससे ये न पूछें कि हम आपके खिलाफ कार्रवाई क्यों न करें? ऐसा केवल इसलिए क्योंकि आपके पास राजनीतिक ताकत है. राजनीतिक बल से आप जैसा चाहे वैसा कर रहे हैं. आप कितनी भी बड़ी संख्या में चुनाव जीतकर क्यों न आए हों, ये अधिकार हमारे संविधान ने नहीं दिया है.’

सपा और टीएमसी का डेलीगेशन जाएगा जहांगीरपुरी

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी और TMC के डेलीगेशन का आज जहांगीरपुरी का दौरा होगा. सपा का डेलीगेशन बुलडोजर चलने वाली जगह की रिपोर्ट बनाकर अपने केंद्रीय और राज्य नेतृत्व को सौंपेगा. TMC ने भी फैक्ट फाइंडिंग कमेटी बनाई है, जो हिंसा प्रभावित इलाके और बुलडोजर चलने वाली जगह की अपने नेतृत्व रिपोर्ट देगी. सपा के डेलीगेशन में शफीकुर्रहमान बर्क, सांसद एसटी हसन, सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद, सांसद रवि प्रकाश, पूर्व सांसद जावेद अली खान शामिल हैं.