चित्तौड़गढ़ जिले के बस्सी में तीन साल की बालिका से दरिंदगी की हुई पुष्टि, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

चित्तौड़गढ़ जिले के बस्सी में तीन साल की बालिका से दरिंदगी की पुष्टि हुई है। हत्या से पहले आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया और जानवरों की हरकत करते हुए उसे कई जगह काटा। बालिका बेहोश हो गई तब उसने उसका गला घोंटा और शव कुएं में फैंक दिया। पुलिस ने शनिवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया, जो खुद खुद तीन बच्चों का पिता है और उसकी सबसे छोटी बेटी ढाई साल की है।

मामले की जांच कर रही महिला अपराध एवं अनुसंधान सेल की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शाहना खानम ने बताया कि तीन साल की मासूम के साथ दरिंदगी तथा बेरहमी से उसकी हत्या करने वाले भीलवाड़ा जिले का 32 वर्षीय आरोपी रमेश धाकड़ को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। रविवार को उसे अदालत में पेश किया जाएगा। आरोपी खुद 3 बच्चों का पिता है और उसकी भी सबसे छोटी बेटी 2.5 साल की है। आरोपी ने जिस तरह की हरकत की, इससे यही साबित हो रहा है कि वह एक साइको है। रिमांड पर लेकर उससे गहन पूछताछ की जाएगी।

अभी तक हुई पूछताछ से खुलासा हुआ कि वह रेती का कारोबार करता था और संपन्न परिवार से हैं। कोरोना काल में बिजनेस फैल होने पर उसने अपनी जेसीबी, ट्रेक्टर तथा ट्रक आदि सभी गाड़ियां बेच दी। तब से वह खेती और सब्जी बेचने का ही काम करता है। 32 वर्षीय आरोपी के तीन बच्चे हैं और बड़ा बेटा पांच साल का है। जिस बच्ची के साथ उसने गलत हरकत की उसी की उम्र की उसकी खुद की बेटी है। वारदात करने के बाद ग्रामीणों के साथ मिलकर उसे ढूंढने लगा तथा उनको झूठी कहानी बताई कि एक व्यक्ति बच्ची को लेकर कुएं की तरफ लेकर जा रहा था। लोग उसे ढूंढने गए तब वह भीलवाड़ा निकल लिया। शुक्रवार रात जब बालिका के परिजनों का ध्यान रमेश की कही बात पर गया तो उन्होंने गांव के दो लोगों को उसके गांव भेजा। वहां जाकर देखा कि उसके परिवार के सभी लोग सो रहे थे और वह पैदल इधर-उधर घूम रहा था, जबकि तब रात का एक बजा था। वे लोग उसे  लेकर आए।

झूठी कहानी बता कबूला दरिंदगी करने के बाद हत्या की

उसने ग्रामीणों को बताया कि वह बालिका को कुएं पर लाया था। जहां उसने कुएं पर बालिका को बिठाया और खुद फ्रेश होने चला गया। इसी बीच धमाके की आवाज आई तो उसे लगा कि बालिका कुएं मं गिर गई और वह घबराकर वहां से निकल आय। उसकी बात पर ग्रामीणों को यकीन हो गया कि बालिका का शव कुएं में है। शनिवार सुबह जब एनडीआरएफ की टीम कुएं में उतरी और बालिका का शव निकाला। बालिका के शव की कंडीशन देखकर लोगों को शक हुआ। उसकी हाथों की मुठ्ठियां बंद थी, लोगों को शक हुआ कि उसकी हत्या कुएं में गिराने से पहले की गई। तब ग्रामीणों ने पुलिस को बुलाया और आरोपी को उनके हवाले कर दिया। जब उसने खुद बताया कि उसी ने दरिंदगी करने के बाद बालिका की हत्या कर दी थी। हालांकि पुलिस अभी तक इसकी पुष्टि नहीं कर पा रही कि उसके साथ दरिंदगी की गई या नहीं। अभी तक पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।