अधिग्रहण की पेशकश स्वीकार किए जाने के बाद एलन मस्क अब कंपनी में नौकरियों पर चलाने जा रहे कैंची….

इंटरनेट मीडिया कंपनी ट्विटर के बोर्ड द्वारा अधिग्रहण की पेशकश स्वीकार किए जाने के बाद एलन मस्क अब कंपनी में नौकरियों पर कैंची चलाने जा रहे हैं। वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक बैंकरों के साथ मीटिंग में उन्होंने कर्मचारियों की दक्षता को लेकर चर्चा की है। जिसके बाद माना जा रहा है कि एक बार सौदा पूरा हो जाने के बाद कर्मचारियों पर छंटनी की तलवार लटक सकती है।

छटनी की बातों पर सीईओ की चुपी

उधर, एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक मस्क ने ट्विटर के लिए फंड जुटाने वाली एक बैठक के दौरान नौकरियों में कटौती करने की बात कही है। मस्क चाहते हैं कि आने वाले दिनों में ट्विटर को फेसबुक की तरह पैसा कमाने वाली कंपनी बनाया जा सके। इसके लिए वह लगातार मंथन कर रहे हैं। खास बात यह है कि कंपनी और उसके सीईओ पराग अग्रवाल ने इन खबरों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। कुछ दिनों पहले कर्मचारियों को संबोधित करते हुए पराग अग्रवाल ने उन्हें यह आश्वासन दिया था कि फिलहाल छंटनी जैसी कोई बात नहीं है।

पालिसी विभाग में परिवर्तन की आशंकाएं

ट्विटर का अधिग्रहण किए जाने के बाद अभी तक एलन मस्क ने पालिसी हेड विजया गड्डे को छोड़कर कंपनी के किसी बड़े अधिकारी की कार्यप्रणाली पर किसी तरह का सवाल नहीं उठाया है। जिसके बाद कुछ लोग मानना है कि मस्क सौदा पूरा होने के बाद सबसे पहले पालिसी विभाग में परिवर्तन करेंगे। इस बीच कर्मचारियों को संबोधित करते हुए पराग एक आडियो क्लिप सामने आया है। उसमें वह कहते हैं कि मस्क जल्द ही कंपनी के कर्मचारियों की चिंताओं को दूर करेंगे। उन्होंने कहा, सौदा होने के बाद कई तरह के फैसले लिए जा सकते हैं। इस बारे में मस्क ही हमें ज्यादा जानकारी दे सकते हैं। हम जल्दी से जल्दी उनसे मिलने का रास्ता निकालेंगे।