भीषण गर्मी और हीटवेव से लोगों का घरों से बाहर निकलना हुआ मुश्किल, यूपी में पारा 45 के पार, जाने कब है राहत मिलने की उम्‍मीद….

भीषण गर्मी और हीटवेव से लोगों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। कई राज्‍यों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले कुछ दिन लोगों को ऐसी ही भीषण गर्मी का सामना करना पड़ेगा, लेकिन सोमवार से कुछ राहत मिलने की उम्‍मीद है। मौसम विभाग के अनुसार, पंजाब में एक मई तक लू का प्रभाव और बढ़ेगा। इस वजह से पंजाब के कई जिलों में दिन का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। दो व तीन मई को पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है। इसकी वजह से धूल भरी आंधी चलने की भी संभावना है। हिमाचल प्रदेश में मौसम में कोई विशेष बदलाव होने की संभावना कम है। मौसम विभाग के अनुसार, एक-दो स्थानों पर तेज हवाओं के साथ बारिश हो सकती है, जिससे गर्मी से थोड़ी राहत मिल सकती है। उत्तराखंड में गर्मी बेहाल करने वाली है। मैदानी क्षेत्रों में फिलहाल राहत के आसार नहीं हैं। मौसम विभाग की मानें तो अगले तीन दिन पर्वतीय जिलों में हल्की बारिश और ओलावृष्टि का अनुमान जताया है। इस दौरान मैदानों में तेज हवा चलने की आशंका है।

तप रहा उत्‍तर प्रदेश, दिल्‍ली में भी पारा 45 के पार

उत्तर भारत को झुलसाती गर्मी से राहत मिलने के आसार नहीं दिख रहे हैं। शुक्रवार को सबसे ज्यादा तापमान उत्तर प्रदेश के बांदा में 47.4 डिग्री सेल्सियस रहा। प्रयागराज 46.8 डिग्री सेल्सियस के साथ दूसरे स्थान पर रहा तो राजधानी दिल्ली का स्पो‌र्ट्स कांप्लेक्स 46.4 डिग्री सेल्सियस के साथ देश में तीसरा सबसे गर्म शहर रहा। राजस्थान के श्रीगंगानगर का तापमान भी 46.4 डिग्री सेल्सियस रहा।

दिल्ली के कई हिस्सों में भीषण लू की चेतावनी

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने शनिवार को दिल्ली के कई हिस्सों में भीषण लू की चेतावनी देते हुए आरेंज अलर्ट जारी किया है। इसका मतलब है कि गर्मी से बचाव के लिए तैयार रहें। शुक्रवार को दिल्ली के बेस स्टेशन सफदरजंग वेधशाला ने लगातार दूसरे दिन अधिकतम तापमान 43.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। यह 12 साल में अप्रैल में एक दिन का सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान है।

jagran

मौसम विभाग की सलाह- लंबे समय तक धूप में रहने, भारी काम करने से बचें

दिल्ली कोर हीटवेव जोन (सीएचजेड) में आता है, जिसमें तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट, बिहार, छत्तीसगढ़ व बंगाल शामिल हैं। हीटवेव में बच्चों, बुजुर्गों के साथ उन लोगों के लिए ज्यादा खतरा होता है जो पुरानी बीमारियों से पीडि़त हों। आइएमडी ने सलाह दी है कि लंबे समय तक धूप में रहने और भारी काम करने से बचें।

71 साल में दूसरी बार सबसे गर्म रहा अप्रैल

दिल्ली में अप्रैल महीने में इस बार औसत तापमान 40.20 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है, जो 12 साल में सर्वाधिक है, जबकि 71 साल में दूसरी बार सबसे ज्यादा है। मौसम विभाग के मुताबिक, 1951 से 2022 तक अप्रैल का सबसे अधिक औसत तापमान 2010 में 40.40 डिग्री रहा है। इन दो वर्षों को छोड़ दिया जाए तो अप्रैल का औसत तापमान हर साल 40 डिग्री सेल्सियस के नीचे ही रहा है।

jagran

जम्मू में रात भी तप रही

कश्मीर में एक दिन पहले बारिश और ओलावृष्टि ने भले कुछ राहत दी हो, लेकिन जम्मू में शुक्रवार को भीषण गर्मी ने बेहाल कर दिया। गुरुवार-शुक्रवार की रात को पारा 30 डिग्री सेल्सियस पर जा पहुंचा। यह इस मौसम का सबसे अधिक न्यूनतम तापमान रहा। अधिकतम तापमान 40.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

jagran

उत्तराखंड में बदला मौसम, हिमाचल में टूटा रिकार्ड

उत्तराखंड में शुक्रवार को दोपहर बाद मौसम बदला और केदारनाथ धाम में हल्की बर्फबारी हुई। रुद्रप्रयाग समेत गुप्तकाशी, अगस्त्यमुनि क्षेत्रों में बारिश होने से गर्मी से कुछ राहत मिलने के साथ ही जंगलों में लगी आग भी बुझी है। चमोली जिले में बदरीनाथ व हेमकुंड की चोटियों पर जहां बर्फबारी हुई, वहीं निचले क्षेत्रों में बारिश से गर्मी से भी खासी राहत मिली। वहीं, हिमाचल में गर्मी रिकार्ड तोड़ रही है। शुक्रवार को ऊना का अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जो इस सीजन में सबसे अधिक है। 2017 में भी ऊना में 29 अप्रैल के दिन अधिकतम तापमान 43 व न्यूनतम 20.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था।