केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा-चीन की तरह भारत में भी बने सख्त कानून….

आदर्श आचार संहिता मामले में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह शुक्रवार को पेश होने के लिए एकबार फिर लखीसराय पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जिला अतिथि गृह मे पत्रकारों से कई मुद्दों पर बातचीत की। उन्होंने देश में चीन की तरह कड़ा जनसंख्या कानून लागू करने की मांग की। इसके अलावा लाउडस्पीकर विवाद को लेकर लालू यादव के दिए बयान पर भी पलटवार किया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून को राजनीतिक चश्मे से नहीं देखना चाहिए बल्कि इसे देश के चश्मे से देखना चाहिए। चीन की तरह एक कड़ा कानून बनना चाहिए। चीन अगर 70 के दशक में कड़ा कानून लेकर नहीं आता तो आज चीन विश्व के क्षितिज पर खुद को विकसित नहीं कर पाता। अगर आबादी नहीं रोकी होती तो चीन में 60 करोड़ लोग और अधिक होते। भारत में भी एक कड़े कानून की जरूरत है। एक ऐसा कानून हो जो सभी धर्मों के लोगों पर समान रूप से लागू हो।  

गिरिराज सिंह ने लाउडस्पीकर विवाद को लेकर लालू यादव पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि लालू जी अभी आए हैं, तो पहले स्वास्थ लाभ लें। हमलोग उनके स्वास्थ लाभ की कामना करते हैं। देश को तोड़ने का काम लालू जी और उनके पार्टी का काम है। यदि भारत में सनातन धर्म की चर्चा नहीं होगी, सनातन धर्म के लोग सिर उठाकर नहीं बोलेंगे तो आखिर कहां जिएंगे। भारत की आजादी हुई, लेकिन टुकड़े में हुई। देश की आजादी को हमारे पूर्वजों ने धर्म का आधार बनाया। सनातन अपने देश में नही बोलेंगे तो पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बंगलादेश मे बोलेंगे। 

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि लालू जी आए हैं प्रवचन दें। प्रवचन देना उनका धर्म है। उन्होंने धर्मविशेष पर बयान देते हुए कहा कि आज देश के भीतर कई राज्यों में रामनवमी जुलूस या हनुमान जयंती जैसे अवसरों पर हमला करने का काम चल रहा है। ऐसे मामलों पर लालू यादव कुछ नहीं बोलते। न्याय की राजनीति देखनी हो तो उत्तर प्रदेश में योगी जी की सरकार को देखें। उन्होंने यदि लाउडस्पीकर की ध्वनि कम की तो मंदिरों और मस्जिदों की भी कम की है। लालू यादव का यदि शासन होता तो वे ऐसा नहीं कर पाते।