छुट्टियों की वजह से एकाएक बड़ा दबाव, यात्रियों को नहीं मिल रही कंफर्म सीट….

 Bilaspur Railway News: ग्रीष्मकालीन अवकाश का असर ट्रेनों पर नजर आने लगा है। एकाएक ट्रेनों में इतनी अधिक भीड़ हो गई है कि यात्रियों को कंफर्म बर्थ के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही है। इसे देखते हुए ही रेलवे ने एक पांच ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाने का निर्णय लिया है। यह सुविधा इसी महीने अलग- अलग तारीख में मिलेगी। दो साल से कोरोना की वजह से ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह प्रभावित था। यात्री बाहर घूमने या रिश्तेदारों के घर जाना तो दूर घर से बाहर तक नहीं निकलते थे।

अब स्थिति थोड़ी सामान्य है, इसलिए लोग अब बाहर जाना शुरू कर चुके हैं। इसके चलते ही ट्रेनों में भीड़ बढ़ी है। आरक्षण केंद्र भी यात्रियों की कतार नजर आ रही है। यात्रियों का सफर बर्थ की वजह से रद न हो जाए, इसलिए रेलवे ने उन सभी ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाने का निर्णय लिया है, जिसमें प्रतीक्षा सूची अधिक है। जिन ट्रेनों में सुविधा दी जा रही है, उनमें पहले दुर्ग- भोपाल एक्सप्रेस शामिल है। इस ट्रेन में एक स्लीपर कोच लगाया जा रहा है। यह सुविधा यात्रियों को सात व आठ मई को मिलेगी।

इसी तरह बिलासपुर- इंदौर नर्मदा एक्सप्रेस में एक स्लीपर सात व आठ मई को लगाया जाएगा। बिलासपुर – रायपुर पैसेंजर में एक स्लीपर कोच सात व 10 मई को लगाया जाएगा। गेवरारोड व शिवनाथ एक्सप्रेस में सामान्य यात्रियों को राहत देने के लिए एक- एक सामान्य कोच जोड़ा जा रहा है। यह सुविधा गेवरारोड से सात व 10 मई को मिलेगी। इसी तरह इतवारी- बिलासपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस आठ व 11 मई को अतिरिक्त सामान्य कोच के साथ रवाना होगी। जिन तारीखों में कोच लगाए जा रहे हैं, दरअसल उसमें प्रतीक्षा सूची अधिक है। अतिरिक्त कोच सुविधा की अवधि बढ़ भी सकती है। लेकिन इससे पहले रेलवे का संबंधित विभाग आंकलन करेगा। हर ट्रेन में इसी तरह आंकलन किया जाता है, जिसमें ज्यादा आवश्यकता होती है उसी में अतिरिक्त कोच जोड़े जाते हैं।