पुलिस से राजनीतिक लाभ लेंगे तो कानून व्यवस्था का यही होगा हाल: पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

ललितपुर के पाली थाने में किशोरी से दुष्कर्म के मामले में समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को प्रदेश सरकार पर तीखा हमला किया। कहा, पुलिस से राजनीतिक लाभ लेंगे तो कानून व्यवस्था का यही हाल होगा। दोषी पुलिस कर्मियों को बर्खास्त किया जाना चाहिए। ‘घर’ में मचे घमासान पर दो टूक कहा, चाचा शिवपाल सिंह यादव समाजवादी पार्टी के सदस्य नहीं हैं। उन्होंने आजम खान के साथ पूरी ताकत से खड़े होने का दावा भी किया। बोले, भाजपा को सपा ही हरा सकती है। कार्यकर्ता हताश न होकर अगले चुनाव की तैयारी करें। सपा मुखिया लखनऊ जाते समय झांसी, कानपुर और उन्नाव में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। 

ललितपुर में बुधवार को दुष्कर्म पीड़िता के परिवार से मुलाकात के बाद अखिलेश ने झांसी में रात्रि विश्राम किया। गुरुवार को उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले भाजपा मस्जिद से लाउडस्पीकर हटाने की बात कहती थी, मगर अब धर्मनिरपेक्ष  होने का दिखावा कर मंदिर से भी लाउडस्पीकर हटा रहे हैं। पुलिस निरंकुश होकर काम कर रही है और धर्म देखकर कार्रवाई कर रही है। नाकामी छिपाने के लिए भाजपा बुलडोजर का सहारा ले रही है। देश की अर्थव्यवस्था पर जवाब न देना पड़े, इसके लिए लाउडस्पीकर की राजनीति करने लगी है। कानपुर में अखिलेश ने चंदौली में पुलिस की दबिश के दौरान किशोरी की मौत को लेकर कहा कि घटना पर पुलिस कहानी बना रही है। महोबा के क्रशर कारोबारी की मौत प्रकरण में आरोपित आइपीएस अधिकारी फरार चल रहा है। हमें तमंचावादी कहने वाले बताएं कि तीन लाख की लूट कैसे हुई। क्या यह भाजपा का तमंचा था। समाजवादियों ने बिजली उत्पादन संयंत्र लगाने का काम किया था, लेकिन भाजपा सरकार ने संकट पैदा किया है। भाजपा की सरकार लगातार दूसरी बार बनी है। गंगा को लेकर बहुत आयोजन हो रहे हैं, जहां सीएम व पीएम ने सेल्फी ली थी, वहां मां गंगा साफ हो गई हैं क्या? 

कार्यकर्ताओं से बोले, जनता के लिए करो संघर्ष 

उरई/कानपुर देहात :अखिलेश यादव ने उरई में राठ रोड हाईवे और कानपुर देहात के बारा टोल के पास जुटे कार्यकर्ताओं से कहा, जनता के लिए संघर्ष करो। इस सरकार में अपराध तेजी से बढ़ रहा है। पीड़ितों का साथ देकर पूरी लड़ाई लड़ें।