प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत युवाओं को मिलेगा कोचिंग करने का मौका

सिविल सेवाओं समेत विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करना हर युवा का सपना होता है। हालांकि महंगी फीस और आर्थिक स्थिति युवाओं का कोचिंग कर तैयारी करने का सपना तोड़ देती है। अब सरकार की ओर से छात्रों की तैयारी के लिए शुरू की गई निश्शुल्क कोचिंग की पहल युवाओं को तैयारी का शानदार मौका दे रही है। हालांकि निश्शुल्क कोचिंग केवल होनहारों को दी जाएगी, जो सच में तैयारी करना चाहते हैं और संबंधित तैयारी के लिए वह मेहनत कर रहे हैं। इसे परखने के लिए प्रवेश परीक्षा का भी आयोजन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत कोचिंग की सुविधा : प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत युवाओं को कोचिंग करने का मौका मिलेगा। प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी के लिए निश्शुल्क कोचिंग का नया सत्र 10 जून से शुरू होगा। प्रवेश परीक्षा के लिए आनलाइन आवेदन एक मई से शुरू हो गई है, 15 मई तक आवेदन हो सकेगा। अगर आप भी निश्शुल्क कोचिंग करना चाहते हैं तो इसके लिए आवेदन करें।

मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए जरूरी सूचना : मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत कोचिंग की सुविधा के लिए प्रवेश परीक्षा हेतु आनलाइन आवेदन 15 मई अंतिम भरे जा सकते है। अभ्यर्थी वेबसाइट http://abhyuday.up.gov.in पर अपना आवेदन करें। प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट 25 मई को वेबसाइट पर जारी होगा।

जिला समाज कल्‍याण अधिकारी बोले : जिला समाज कल्याण अधिकारी प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि कोचिंग की भारी भरकम फीस के कारण जो छात्र प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी नहीं कर पाते, यह योजना उन्हें तैयारी का मौका दे रही है। इसमें सिविल सेवा से लेकर जेईई, नेट, बैंकिंग, टीईटी आदि की भी तैयारी कराई जाएगी। इस कोचिंग में आनलाइन आफलाइन दोनों तरीके से पढ़ाई होगी ।

अधिकारी भी लेंगे क्लास : इस विशेष कोचिंग में शिक्षक के तौर पर प्रशिक्षु आइएएस-आइपीएस, आइएफएस अधिकारी भी कक्षाएं लेंगे। वेबसाइट पर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए प्रश्न बैंक, प्रश्नोत्तरी आदि भी वेबसाइट पर मिलेगी। लिंक – Http://Abhyuday.Up.Gov.In/Hi_events.Php से अभ्यर्थी सीधे आवेदन कर सकते हैं।

कब होगी प्रवेश परीक्षा

जेईई- 18 मई

नीट – 19 मई

एनडीए-सीडीएस – 20 मई

यूपीएससी-यूपीपीएससी – 21 मई

समय – दोपहर दो से साढ़े तीन बजे तक