वाराणसी में कोरोना के मामले में तेजी से हो रही वृद्धि, सक्रिय मामलों में भी बढ़ोतरी

 जिले में कोरोना के मामलों में तेजी से वृद्धि देखी जा रही है। सक्रिय मामलों में भी बढ़ोतरी हुई है। अबतक कोरोना के 41 सक्रिय मामले हो चुके हैं। अगर कोरोना की यही रफ्तार रही तो 100 से अधिक मामले होने में देर नहीं लगेगी। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 5 मई को कोरोना के 8 नए कोविड पॉजिटिव मामले आए थे, इसके साथ ही वाराणसी में कोविड पॉजिटिविटी रेट 0.16% दर्ज की गई। हालांकि रिकवरी रेट 99.60% है।

इसके बावजूद लोग रेलवे स्टेशन, सड़कों और अस्पतालों में भी बिना मास्क के नजर आ रहे हैं। शासन द्वारा लगातार लोगों को कोरोना से सतर्क रहने और मास्क की अनिवार्यता की पहल की गई है लेकिन फिर भी लोग मास्क लगाने में लापरवाही बरत रहे हैं।

वाराणसी में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन के आंकड़ों के अनुसार, 5 मई को शहर में 3046 लोगों की कोरोना जांच की गई, जिसमें से 3038 लोग निगेटिव पाए गए। वाराणसी में संक्रमित आए 8 लोगों में से दो बच्चे भी शामिल हैं, जिनकी उम्र  7 साल और 3 साल है।

बीते कुछ दिनों से वाराणसी में कोरोना के मामलों में वृद्धि चिंताजनक है। ऐसे में कोरोना नियमों को लेकर कड़ाई तय है। शहर में कोरोना की रोकथाम के लिए मास्क की अनिवार्यता, कांट्रैक्ट ट्रेसिंग आदि की व्यवस्था शासन के द्वारा किया जा रहा है।

ऐसे करें अपना बचाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, कोरोना वायरस से खुद को बचाने के लिए साफ-सफाई से रहना बहुत ही जरूरी है। समय-समय से अपने हाथ धोएं। अल्कोहॉल बेस्ड सैनेटाइजर का उपयोग भी आप कर सकते हैं। आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से भीड़भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाने की अपील की है। साथ ही कोविड नियमों का पालन करने की सलाह भी दी गई है। लोग बाहर निकलते वक्त मास्क का प्रयोग करें।