1947 के बाद देश को गलत आर्थिक नीतियों और दूरदृष्टिहीन नेतृत्व का भुगतना पड़ा खामियाजा: नितिन गडकरी

 केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि स्वतंत्रता के बाद गलत आर्थिक नीतियों, भ्रष्ट शासन और दूरदर्शी नेतृत्व के कारण देश को भारी नुकसान हुआ। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में लोग अब ‘स्वयं’ के बारे में बात कर रहे हैं। भारत अब निर्भर, सुखी, समृद्ध और शक्तिशाली हो गया है।

जैन अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संगठन के ‘JITO Connect 2022’ बिजनेस मीट के उद्घाटन समारोह में बोलते हुए गडकरी ने आयात को कम करने और निर्यात बढ़ाने की आवश्यकता पर खासा जोर दिया है।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि हम गरीब आबादी वाले एक अमीर देश हैं। 1947 के बाद गलत आर्थिक नीतियों, खराब और भ्रष्ट शासन और दृष्टिहीन नेतृत्व के कारण हमें भारी नुकसान हुआ। लेकिन अब पीएम मोदी जी के नेतृत्व में हम ‘आत्मानिर्भर’ भारत, खुशहाल, समृद्ध और शक्तिशाली भारत की बात कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने महात्मा गांधी द्वारा दिए गए ‘स्वदेशी’ के विचार को बढ़ावा दिया है। साथ ही उन्होंने ‘भारतीय बनो और भारतीय खरीदो’ के विचार को प्रचारित किया जाना चाहिए।

गडकरी ने कहा कि मैं आपको व्यवसाय के बारे में क्या बता सकता हूं? आपके पास उस पर विशेषज्ञता है … आयात को कम करने और निर्यात बढ़ाने की आवश्यकता है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि हम जो निर्यात कर रहे हैं और जो हम कर रहे हैं उसके आधार पर एक नीति बनाएं।