पंजाब के सीएम भगवंत मान ने आज राज्य के पुलिस अफसरों के साथ की बड़ी बैठक…

 पंजाब के सीएम भगवंत मान ने आज राज्य के पुलिस अफसरों के साथ बड़ी बैठक की। इसमें राज्य में नशे के खिलाफ एक्शन प्लान बनाया गया। नशे को खत्म करने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक में भगवंत मान ने पुलिस अधिकारियों को बिना किसी दबाव के हर आरोपित के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

सीएम भगवंत मान ने कहा कि हमारे युवा पीड़ित हैं, दोषी नहीं। पहले विक्रेताओं को पकड़कर नशे की चेन तोड़ी जाएगी, फिर हम युवाओं का पुनर्वास करेंगे। सीएम ने कहा कि सरकार का सपना नशा मुक्त पंजाब बनाना है।

बता दें, पंजाब में नशे की चेन रोकने के साथ-साथ राज्य सरकार नशा मुक्ति केंद्रों के ढांचे में ही सुधार कर रही है, ताकि नशा छोड़ने के इच्छुक लोग यहां आ सकें। राज्य में हर 10 किलोमीटर के दायरे में एक नशा मुक्ति केंद्र बनाया जाएगा। अभी पंजाब में 208 नशा मुक्ति केंद्र हैं। 16 सेंटर जेलों में चल रहे हैं।

राज्य में वर्तमान में 2.5 लाख नशा करने वाले मरीज पंजीकृत है जबकि नशा मुक्ति केंद्रों पर 16.5 लाख मरीज उपचार के लिए आ रहे हैं।

वहीं, दिल्ली के सीएम व आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने भगवंत मान के ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए लिखा कि पंजाब के युवाओं को नशे की गिरफ्त से बाहर लाना जरूरी है। उन्होंने लिखा कि आप सरकार नशे के खिलाफ लड़ाई लोगों के साथ मिलकर लड़ेगी।

वहीं, मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज अपना चुनावी वादा पूरा करते हुए कोरोना योद्धा चालक मनजीत सिंह के परिवार को 50 लाख रुपये का मुआवजा तत्काल जारी करने का आदेश दिया है। कोरोना जब चरम पर था, तब मनजीत सिंह ने नांदेड़ साहिब से सिख यात्रियों को लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।