प्रयागराज में मिलने लगे हैं कोविड के मरीज, बीते 24 घंटे में सात लोग हुए संक्रमित….

कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार विशेषज्ञों के पूर्वानुमान के अनुसार बढ़ रही है। कोरोना के केस बढऩे से खतरा निकट आने के आसार जताए जा रहे हैं। प्रयागराज में स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों में तैयारी तेज कर दी है। संक्रमण से बचाने के लिए विभिन्न माध्यमों से यह संदेश प्रचारित किया जा रहा है कि लोग घर से बाहर निकलें तो मास्क जरूर लगाएं। शारीरिक दूरी बनाए रखने के नियम का पालन फिर से करना होगा, जबकि अधिकांश लोग बिना मास्क ही रहते हैं। सीएमओ का कहना है कि संक्रमण बढ़ा है, अस्पतालों में तैयारी पूरी है। अभी तक मिले संक्रमित लोगों में किसी को गंभीर मिला फिर भी सभी को सुरक्षित रहने का प्रयास करते रहना चाहिए।

कोरोना से सात संक्रमित, स्‍वस्‍थ भी हो रहे लोग : कोरोना संक्रमण की रफ्तार एक बार फिर बढ़ने लगी है। पिछले 24 घंटे में प्रयागराज में सात लोग संक्रमित हुए। हालांकि पहले से संक्रमित सात लोग स्वस्थ भी हुए। इनकी कोविड रिपोर्ट निगेटिव आई। हालांकि कोरोना के केस बढऩे से संभावित खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों में तैयारी तेज कर दी है।

लोग मास्‍क न लगाकर कर रहे गलती : कुछ ही लोग सड़कों या बाजार में मास्‍क लगाए दिखते हैं, अन्‍यथा अधिकांश लोगों की बेफिक्री भी नजर आती है। लगातार जागरूकता अभियान के बाद भी मास्‍क लगाने से परहेज कर रहे लोग शायद कोरोना के संभावित खतरे से अनजान बने हैं।

प्रयागराज के सीएमओ बोले- सुरक्षित रहने का करें प्रयास : मुख्य चिकित्साधिकारी डा. नानक सरन का कहना है कि संक्रमण बढ़ा है, भविष्य में इसके और भी तेज होने के आसार जताए जा रहे हैं। बोले कि अस्पतालों में तैयारी पूरी है। अभी तक मिले संक्रमित लोगों में किसी को गंभीर नहीं पाया गया है। फिर भी सभी को सुरक्षित रहने का प्रयास करते रहना चाहिए।

कोरोना के खतरे से बचने को अस्पतालों में मास्क जरूरी : कोरोना संक्रमण के केस बढऩे और जिला प्रशासन की तरफ से मास्क अनिवार्य किए जाने के चलते अब अस्पतालों में भी सजगता बरती जाएगी। कोविड हेल्प डेस्क पर नियुक्त कर्मचारी लोगों को मास्क के लिए प्रेरित करेंगे। चिकित्सकों से भी कहा गया है कि ओपीडी में रोगियों और उनके तीमारदारों को मास्क के लिए प्रेरित करें।

जिलाधिकारी ने मास्‍क लगाने का दिया है निर्देश : लगभग सभी सरकारी अस्पतालों में लोग बिना मास्क के बेधड़क आ जा रहे हैं। चिकित्सकों के ओपीडी कक्ष में भी नरमी के चलते लोग बिना मास्क लगाए पहुंच जाते हैं। पिछले दिनों जिलाधिकारी ने मास्क की अनिवार्यता के लिए निर्देश दिए थे, शापिंग माल व अन्य भीड़ वाले स्थानों पर मास्क जरूरी किए गए थे लेकिन इसका पालन प्रभावी तरीके से नहीं हो रहा है।

काल्विन अस्‍पताल में हेल्‍प डेस्‍क सक्रिय : मोतीलाल नेहरू मंडलीय चिकित्सालय यानी काल्विन अस्पताल की प्रमुख चिकित्साधीक्षक डा. इंदु कनौजिया ने बताया कि कोविड हेल्प डेस्क को सक्रिय करते हुए सोमवार से ही सभी के लिए मास्क जरूरी कराया जा रहा है। संक्रमण बढ़ रहा है इसलिए सजगता रहेगी। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. नानक सरन ने कहा है कि मास्क सभी को लगाना चाहिए, इससे संक्रमण से काफी हद तक बचत होती है। कोरोना के मामले कभी घट रहे हैं कभी बढ़ रहे हैं इसलिए खतरा बना हुआ है। अस्पताल जो भी लोग जाएं तो मास्क जरूर लगाएं।