गाजीपुर में जहूराबाद विधायक और सुभासपा अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर संग ग्रामीणों ने की झड़प…

जहूराबाद विधायक व सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने आरोप लगाया है कि करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र के मानसपुर (गोशलपुर) के ग्रामीणों ने उनके साथ हाथापाई की। उनका आरोप है कि वह एक व्यक्ति के निधन पर शोक संवेदना प्रकट करने गए थे, जहां ग्रामीणों ने उन्हें घेर लिया था। जानकारी होने के बाद मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल भी पहुंच गई है। करीमुद्दीनपुर थानाध्यक्ष ने बताया कि अभी मारपीट की कोई जानकारी नहीं है। ग्रामीणों से पूछताछ करने के साथ ही आरोप के अनुसार जांच-पड़ताल की जा रही है। वाद विवाद और नोकझोंक की जानकारी होने के बाद समर्थकों और अन्‍य लोगों के जुटने को देखते हुए सुरक्षा कारणों से पुलिस बल को मौके पर बुला लिया गया। 

वहीं विवाद के पूर्व ओम प्रकाश राजभर ने मंगलवार की दोपहर अपने कार्यक्रम की जानकारी इंटरनेट मीडिया पर साझा की है। उन्‍होंने लिखा है कि ‘आज अपनी विधानसभा जहूराबाद के ग्रामसभा पाहदरिया में श्री अवधेश राजभर जी के निधन पर परिजनों से मुलाकात कर शोक व्यक्त किया। ईष्ट से कामना है दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें।’ माना जा रहा है कि इस आयोजन में शामिल होने के बाद वह पहुंचे और इस दौरान कुछ ग्रामीणों की ओर से उनके साथ विवाद हो गया। विवाद को बढ़ता देखकर पुलिस को भी सूचना दे दी गई। आनन फानन सुभासपा प्रमुख से जुड़ा प्रकरण होने की वजह से आला अधिकारियों को भी इस घटना के बारे में अवगत करा दिया गया है।

jagran

आरोप है कि गाजीपुर में करीमुद्दीनपुर थानाक्षेत्र के पहदरिया (मानसपुर) में मंगलवार को ओमप्रकाश राजभर पर पच्चीस से तीस की संख्या में लाठी डंडे लेकर पहुंचे लोगो ने हमला करने का प्रयास किया। इस दौरान किसी तरह से सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें मौके से सुरक्षित निकाला। हालांकि, घटना की पुष्टि नहींं हो सकी पर यह आरोप ओमप्रकाश राजभर की ओर से लगाया गयाा है। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि आते समय रास्ता संकरा होने के कारण कुछ युवकों का शरीर गाड़ी से लग गया। जिससे विवाद हो गया। ज्ञात हो कि अपने किसी परिचित के यहां शोक संवेदना व्यक्त करने आये थे। इस बाबत सुभासपा की ओर से मुख्‍यमंत्री, उप मुख्‍यमंत्री, विधानसभा अध्‍यक्ष, डीजीपी, एडीजी, डीएम और एसपी को पत्र लिखकर उनकी सुरक्षा बढ़ाए जाने की मांग की गई है।