CM योगी की अध्यक्षता में मंत्रिमण्डल की बैठक….

  • सभी 18 मंत्री समूहों के अध्यक्षों ने अपने प्रभार वाले मंडलों की जनपदवार स्थिति के बारे में जानकारी दी
  • मंत्रिमण्डल के सदस्यों ने मंडलीय भ्रमण के लिए मंत्री समूह के गठन के प्रयास को अभिनव बताते हुए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया
  • मुख्यमंत्री ने मंडलीय भ्रमण से लौट कर आए मंत्री समूह की रिपोर्ट पर प्रभावी कार्यवाही के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया
  • मंत्री समूह की रिपोर्ट सम्बंधित जनपदों के नोडल अधिकारियों को उपलब्ध करायी जाए: मुख्यमंत्री
  • मुख्यमंत्री ने मंत्री समूहों के मंडलीय एवं जनपदीय भ्रमण कार्यक्रम की उपयोगिता के दृष्टिगत भ्रमण कार्यक्रम को सतत् जारी रखने पर बल दिया
  • मुख्यमंत्री ने आमजन की समस्याओं के प्रति पूरी संवेदनशीलता बरतते हुए लोक शिकायतों का गुणवत्तापरक समाधान करने के निर्देश दिए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने मंडलीय भ्रमण से लौट कर आए मंत्री समूह की रिपोर्ट पर प्रभावी कार्यवाही के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है। उन्होंने कहा कि मंत्री समूह की रिपोर्ट सम्बंधित जनपदों के नोडल अधिकारियों को उपलब्ध करायी जाए, ताकि जन अपेक्षाओं के अनुरुप विकास कार्यों को गति दी जा सके। मंत्रीगणों ने जिन क्षेत्रों में सुधार की जरूरत बतायी है, उस पर अमल किया जाए।


मुख्यमंत्री जी की अध्यक्षता में आज यहां लोकभवन में आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक में सभी 18 मंत्री समूहों के अध्यक्षों ने अपने प्रभार वाले मंडलों की जनपदवार स्थिति के बारे में जानकारी दी। मंत्रिमण्डल के सदस्यों ने मंडलीय भ्रमण के लिए मंत्री समूह के गठन के प्रयास को अभिनव बताते हुए मुख्यमंत्री जी के प्रति आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री जी ने मंत्री समूहों के मंडलीय एवं जनपदीय भ्रमण कार्यक्रम की उपयोगिता के दृष्टिगत भ्रमण कार्यक्रम को सतत् जारी रखने पर बल दिया। उन्होंने आमजन की समस्याओं के प्रति पूरी संवेदनशीलता बरतते हुए लोक शिकायतों का गुणवत्तापरक समाधान करने के निर्देश दिए।


बैठक में अवगत कराया गया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार मंत्री समूह द्वारा मंडलीय भ्रमण के दौरान मंडलीय समीक्षा बैठक कर विकास परियोजनाओं की अद्यतन स्थिति का जायजा लिया गया। कार्य की गुणवत्ता और समयबद्धता के लिए अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए। वहीं, महिला सुरक्षा के मामलों, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के प्रकरणों में अभियोजन की स्थिति, पुलिस पेट्रोलिंग, बाल यौन अपराधों, व्यापारियों की समस्याओं, अपराधों तथा माफिया के विरुद्ध कार्रवाई आदि का विवरण प्राप्त करते हुए जीरो टॉलरेंस नीति के साथ बेहतर कानून-व्यवस्था के लिए जरूरी निर्देश भी दिए गए। मंत्री समूहों ने भ्रमण के दौरान ‘जन चौपाल’ और ‘सहभोज’ के अनुभवों को भी साझा किया। उन्होंने बताया कि महिला सुरक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सुविधा और स्कूलों के कायाकल्प तथा पात्र लोगों को बिना भेदभाव मिल रहे मुफ्त राशन के विषय पर जनता में सकारात्मक माहौल है। मंत्रियों ने जनसमस्याओं/शिकायतों के निस्तारण की व्यवस्था को और बेहतर बनाये जाने की अपेक्षा भी जतायी।


मंत्रिमंडल की बैठक में उपमुख्यमंत्री श्री ब्रजेश पाठक ने 05 से 07 मई, 2022 तक केवड़िया, गुजरात में आयोजित केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण परिषद (सी0सी0एच0एफ0डब्ल्यू0) के 14वें सम्मेलन ‘स्वास्थ्य चिंतन शिविर’ के अनुभवों को भी साझा किया। उन्होंने बताया कि शिविर में इंसेफेलाइटिस उन्मूलन और कालाजार की समाप्ति सहित संचारी रोगों के निदान के ‘यूपी मॉडल’ पर एक प्रस्तुतिकरण किया गया। साथ ही, प्रदेश में एक जनपद-एक मेडिकल कॉलेज सहित हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों और कोविड के सराहनीय प्रबंधन के सम्बन्ध में भी बिंदुवार जानकारी दी गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय सहित विभिन्न राज्यों ने स्वास्थ्य एवं चिकित्सा क्षेत्र में उत्तर प्रदेश के प्रयासों की सराहना की। मंत्रिमंडल की बैठक में मत्स्य विभाग के मंत्री श्री संजय निषाद ने भी एक प्रस्तुतिकरण दिया।
——–