जापान ने रूस को उच्च तकनीक वाले सामानों के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का किया फैसला

जापान ने रूस को उच्च तकनीक वाले सामानों के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। इन सामानों में  क्वांटम कंप्यूटर, 3 डी प्रिंटर और इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप शामिल हैं। देश के अर्थव्यवस्था, व्यापार और उद्योग मंत्रालय ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। 

जापान की  व्यापार और उद्योग मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि ‘यूक्रेन के आसपास की अंतरराष्ट्रीय अशांति की स्थिति के बीच, हमारा देश पूरी दुनिया में शांति स्थापित हो इस मुहीम के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय प्रयासों में अपना योगदान दे रहा है। सरकार ने 10 मई को यह फैसला लिया है कि रूस पर प्रतिबंध लगाया जाएगा। जापान रूस पर उच्च तकनीक वाले सामानों का प्रतिबंध लगाएगा। ये निर्णय  20 मई से  लागू होगा।’ 

कई उच्च तकनीक वाले सामान हैं इस प्रतिबंध में शामिल

रूस को निर्यात के लिए प्रतिबंधित सामानों की सूची में तेल शोधन उपकरण, क्वांटम कंप्यूटर और उनके घटक, इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप, परमाणु बल माइक्रोस्कोप, 3 डी प्रिंटर और उनके उपभोग्य वस्तुएं, कार्बनिक प्रकाश उत्सर्जक डायोड के उत्पादन के लिए उपकरण, माइक्रोइलेक्ट्रोमैकेनिकल सर्किट के उत्पादन के लिए उपकरण, हाइड्रोजन ईंधन और नवीकरणीय ऊर्जा के लिए उच्च दक्षता वाले सौर कोशिकाओं के उत्पादन के लिए उपकरण, वैक्यूम पंप, बेहद कम तापमान के लिए डिज़ाइन किए गए प्रशीतन उपकरण, ऐसी सामग्री जो विद्युत चुम्बकीय तरंगों का पता लगाना मुश्किल बनाती है, और अन्य उपकरण इस प्रतिबंध में शामिल है।

कई देश रूस पर प्रतिबंध लगाने में हुए शामिल

आपको बता दें कि 24 फरवरी को यूक्रेन में सैन्य अभियान शुरू करने के बाद जापान रूस के खिलाफ प्रतिबंध अभियान में शामिल हो गया है। इस तरह रूस पर प्रतिबंध लगाने वाला जापान कोई पहला देश नहीं है। इससे पहले कई छोटे-बड़े देश इस प्रतिबंध में पहले से शामिल हैं। अलग-अलग देशों ने मिलकर रूस पर कई तरह के प्रतिबंध लगाएं हैं। इन देशों में पोलैंड से लेकर कनाडा और अमेरिका शामिल है। हवाई यात्रा से लेकर कई तरह के निर्यातों पर इन देशों द्वारा प्रतिबंध लगाएं गए हैं। जैसे-जैसे रूस यूक्रेन में आक्रामक होता जा रहा है वैसे ही उन देशों की संख्या बढ़ती जा रही है जो रूस पर कड़े प्रतिबंध लगा रहा है।